scriptPolice reached the thief gang with the help of brother-in-law | जीजा-साले की मदद से चोर गैंग तक पहुंची पुलिस | Patrika News

जीजा-साले की मदद से चोर गैंग तक पहुंची पुलिस

मोबाइल दुकान से चोरी हुए सभी 56 मोबाइल जब्त, पुलिस ने छह आरोपियों को गिरफ्तार किया, कोतवाली इलाके में हुई थी वारदात

खंडवा

Published: April 09, 2022 10:23:49 pm

खंडवा. शहर कोतवाली इलाके की एक दुकान को निशाना बनाते हुए करीब 9 लाख रुपए कीमत के मोबाइल फोन चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफास कर लिया गया है। एडिशनल एसपी सीमा अलावा ने शनिवार को इस अपराध का खुलासा करते हुए बताया कि 56 मोबाइल फोन दुकान से चोरी हुए थे। जिसे चोरी करने वालों तक पुलिस जीजा-साले की मदद पहुंची है। छह आरोपी पकड़े गए हैं जिसमें तीन चोरी के अपराध में जेल में थे।
यह है मामला
17 फरवरी को फरियादी घनश्याम पिंजानी निवासी सिंधी कॉलोनी ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनकी फूलगली में टोयोटा मोबाईल के नाम से दुकान है। 16 फरवरी की रात करीब साढ़े 9 बजे वह दुकान बंद कर घर चले गए थे। अगली सुबह आए तो दुकान का शटर उपर उठा हुआ था। दुकान के अंदर से 44 मोबाइल गायब थे। रिपोर्ट पर आइपीसी की धारा 457, 380 का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान पता चला कि 12 मोबाइल फोन और चोरी हुए हैं। यानि कुल 56 फोन चोरी गए थे।
एक्टिव होते ही पहुंची पुलिस
वारदात के बाद साबर सेल की टीम लगातार निगाह रखे थी। चोरी हुए फोन के एक्टिव होने का इंतजार हो रहा था। तभी एक फोन चालू होते ही पुलिस को सूचना मिली। जिसके आधार पर कोतवाली पुलिस दीपक चौहान (23) निवासी नीमच हाल देपालपुर जिला इंदौर तक पहुंची। अभिरक्षा में लेकर उससे पूछताछ करने पर उसने 5 मोबाइल फोन जब्त कराते हुए बताया कि सभी फोन उसके साले पवन चौहान निवासी गवालु थाना सिमरोल जिला इंदौर से उसने लिए थे। जीजा और साले दीपक व पवन को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ करने पर मोर सिंह उर्फ मोनू पिता अनार सिंह चौहान निवासी ग्राम हिवरा थाना नेपानगर जिला बुरहानपुर तक पुलिस पहुंची। इसने बताया कि आरोपी राजा उर्फ अजहर पिता शेख सईद (22), फारूख पिता रमजान मुसलमान (22), मनोज पिता विष्णु पाटिदार (27) सभी निवासी ग्राम डाबियाखेड़ा थाना नेपानगर से 11 मोबाइल बेचने के लिए लिया था।
जेल से पकड़े गए आरोपी
दीपक, पवन और मोनू उर्फ मोर सिंह को आइपीसी की धारा 411 के तहत् गिरफ्तार कर 11 मोबाइल जब्त किए गए। प्रकऱण के मुख्य आरोपियों के संबंध में जानकारी लेने पर पता चला कि तीनों आरोपी पुलिस थाना नेपानगर के चोरी के अपराध में गिरफ्तार होकर जेल खंडवा में निरूद्ध हैं। आरोपीयों को न्यायालय के आदेश से पुलिस रीमांड में लेकर पूछताछ की गई।
गड्ढे में दबाए थे मोबाइल
शातिर चोरों ने मोबाइल फोन अनाज की पेटी, बाड़े के गड्ढे में दबाकर और अलमारियों में छिपाकर रखे थे। तीनों आरोपियों ने अपने अपने हिस्से के 45 मोबाइल फोन के साथ घटना में प्रयुक्त 2 सब्बल सहित मोटर साइकिल बरामद कराई। इस तरह 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर करीब 9 लाख रुपए कीमत के 56 मोबाइल फोन जब्त किए हैं।
इस टीम को मिली सफलता
आरोपीयों को गिरफ्तार करने व प्रकरण का पर्दाफाश करनें में नगर पुलिस अधीक्षक ललित गठरे, थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक बलजीत सिंह बिसेन, एएसआइ जितेंद्र चौहान, जितेंद्र तिवारी, हिफाजत अली, आरक्षक अनिल मछाने, चेतन राजपूत, साइबर सेल प्रधान आरक्षक जितेंद्र राठौर, साइबर सेल आरक्षक सुनिल लाडगे की अहम भूमिका रही।
Police reached the thief gang with the help of brother-in-law
Police reached the thief gang with the help of brother-in-law

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.