scriptPolicemen engaged in serving buffaloes, police station became stable | भैंसों की चाकरी में लगे पुलिसकर्मी, थाना बना तबेला | Patrika News

भैंसों की चाकरी में लगे पुलिसकर्मी, थाना बना तबेला

locationखंडवाPublished: Feb 03, 2024 11:14:44 pm

Submitted by:

Deepak sapkal

कोई भूसा खिला रहा है तो कोई पानी पिला रहा

भैंसों की चाकरी में लगे पुलिसकर्मी, थाना बना तबेला
थाना परिसर में बंधी भैंस को पानी पिला रहे पुलिसकर्मी।
खंडवा. मध्यप्रदेश का एक थाना इन दिनों अपनी कार्रवाई को लेकर चर्चा में हैं। यह थाना भैंस का तबला बनकर रह गया है। काई भैंस को पानी पिला रहा है तो कोई उनके आगे खाने के लिए भूसा डाल रहा है। एक तरह से यह थाना कम भैंस का तबेला नजर आने लगा है। अब तक भैंसों की देखरेख पर करीब 10 हजार रुपए खर्च हो चुके हैं।तबेला बना यह थाना जावर का है। वर्दी में पुलिकर्मियों को यह सब करता देख लोग भी अचरज में है। भैंसों की चाकरी का सिलसिला तीन दिन से बना हुआ है। शुक्रवार को पुलिसकर्मी भैंसों की देखरेख करते रहे।पुलिसकर्मी हेडपंप से पानी भरकर भैंसों को पिला रहे है। वहीं पास में भूसे का ढेर लगा हुआ है। दो पुलिसकर्मी तगारी में भूसा भरकर पुलिसकर्मी भैंसों को खिलाते रहे। भैंसों की चाकरी में करीब पांच पुलिसकर्मी कर रहे हैं।
तीन दिन पहले पकड़ी थी 17 भैंसेजावर पुलिस ने मुंदी रोड भैंसों से लदा एक ट्रक पकड़ा था। इस ट्रक में 17 भैंसों को क्रूरता से ठूंसा हुआ था। भैंसों के साथ ही ट्रक में 70 लीटर अवैध शराब भी मिली थी। शराब और ट्रक को जब्त कर थाने में लाया गया था। यहां पुलिस ने ट्रक से भैसों को उतारकर थाना परिसर में ही बांध दिया। तब से लेकर अब तक यह तीन दिन हो गए यह भैंसे थाने में बंधी हुई है। इस मामले में ट्रक क्रमांक एमएच 20-सीएम-4368 के चालक शाहिद पिता मुन्ना निवासी पीपलखेड़ा भोपाल, समीर पिता शरीफ निवासी खोखरा शाजापुर, संजू पिता प्रेमसिंह राजपूत निवासी शुजालपुर और जावर पिता गब्बर निवासी तैलन, राजगढ़ को गिरफ्तार कर केस दर्ज किया गया था।
अब तक दस हजार रुपए खर्च

जावर पुलिस तीन दिन से थाने में भैंसों की निगरानी कर रही है। भैंसों को थाना परिसर में ही बांध रखा हैं। भैंसों के लिए यहां भूसा और चार खिलाया जा रहा है। अब तक भैंसों पर करीब 10 हजार रुपए खर्च हो गए हैं। इनकी देखरेख में अब पुलिस का आम काम भी प्रभावित हो रहा है। इस मामले को लेकर जावर टीआइ गंगा प्रसाद वर्मा ने बताया कि भैंसों को थाने में ही बांध रखा हैं। भैंसों के लिए भूसा खरीदा हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो