NEET Exam- मेडिकल कॉलेज में प्रवेश की तैयारी शुरू, बनाई समिति

-ऑनलाइन होगी प्रवेश प्रक्रिया, दस्तावेज सत्यापन की स्थिति स्पष्ट नहीं
-आरक्षित सीटों के लिए भी नहीं आए निर्देश, 120 सीट पर होगा प्रवेश

खंडवा.
देश में नीट परीक्षा का परीणाम आते ही मेडिकल कॉलेज खंडवा में भी प्रवेश प्रक्रिया की तैयारी शुरू हो गई है। एमबीबीएस प्रथम वर्ष में प्रवेश के लिए मेडिकल कॉलेज द्वारा समिति का गठन भी कर दिया गया है। हालांकि केंद्र शासन से अभी प्रवेश को लेकर कोई निर्देश जारी नहीं हुए है कि किस प्रकार की प्रक्रिया अपनाई जाना है। मेडिकल कॉलेज ने पूर्व की तरह प्रवेश के लिए तैयारी कर ली है। कोरोना संक्रमण को लेकर नए निर्देश आने पर तैयारियों में बदलाव भी किया जाएगा।
लंबे समय से नीट परीक्षा का इंतजार किया जा रहा था। अब नीट के परीणाम सामने आने के बाद मेडिकल कॉलेज में प्रवेश का रास्ता भी खुल गया है। देशभर के शासकीय, निजी मेडिकल कॉलेज सहित मप्र के सात शासकीय मेडिकल कॉलेज में भी जल्द ही प्रवेश आरंभ होंगे। शासकीय मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) खंडवा में भी इसकी तैयारी शुरू हो गई है। चिकित्सा शिक्षा विभाग के निर्देश पर जीएमसी खंडवा में समिति का गठन भी हो चुका है। इसके लिए पूर्व में प्रवेश की जिम्मेदारी उठाने वाले डॉ. राकेश सिंह हजारी और स्टूडेंट सेक्शन के डॉ. पराग शर्मा द्वारा प्रवेश प्रक्रिया पूरी कराई जाएगी। हालांकि इस बार प्रवेश प्रक्रिया किस तरह से अलग होगी, इसकी जानकारी अभी नहीं दी गई है।
च्वाइस फिलिंग में चुनेंगे अपना मनपसंद कॉलेज
मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के लिए पूर्व में नीट की मेरिट लिस्ट जारी की जाती है। इसके बाद फस्र्ट काउंसलिंग होती है। यहां मेरिट लिस्ट के अभ्यार्थी अपनी पसंद का कॉलेज चुनते है। मेरिट आधार पर देश के बड़े मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के बाद स्टेट के कॉलेज के लिए सेकंड काउंसलिंग होती है। च्वाइस फिलिंग में मनपसंद कॉलेज नहीं मिलने पर सेकंड काउंसलिंग में अभ्यार्थी दूसरे कॉलेज का विकल्प अपनाते है। अभ्यर्थियों को ऑनलाइन प्रवेश लेना होता है। मेडिकल कॉलेज की सूची में नाम आने के बाद अभ्यर्थियों को मेडिकल कॉलेज में स्वयं उपस्थित होकर दस्तावेजों का सत्यापन कराना होता है। मेडिकल कॉलेज में कोटे के अनुसार सीट आवंटन की जाती है। मप्र के सात मेडिकल कॉलेज में पिछले साल जीएमसी खंडवा स्टेट च्वाइस फिलिंग में पांचवें स्थान पर था। कोरोना काल में ऑनलाइन पढ़ाई में जीएमसी खंडवा प्रदेश में मॉडल बना था। इस साल च्वाइस फिलिंग में जीएमसी खंडवा ऊपर आ सकता है।
ऑनलाइन होगी प्रवेश प्रक्रिया
प्रवेश प्रक्रिया पूर्व की तरह ऑन लाइन ही होगी। जीएमसी खंडवा में 120 सीटें हैं, जिस पर सैंट्रल का 15 प्रतिशत और स्टेट का 85 प्रतिशत का कोटा है। च्वाइस फिलिंग के बाद दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया होती है, जिसके लिए अभी कोई निर्देश नहीं आए है। हमने समिति का गठन कर दिया है।
डॉ. अनंत पंवार, डीन मेडिकल कॉलेज खंडवा

Show More
मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned