भूख से बिलख रही दो महीने की मासूम को GRP ने ट्रेन में पहुंचाई दूध की बोतल

मां को तकलीफ होने के कारण नहीं पिला पा रहीं थीं बच्ची को दूध, लखनऊ से मुंबई जा रहा था परिवार..

By: Shailendra Sharma

Published: 20 Apr 2021, 07:36 PM IST

खंडवा. कोरोना महामारी (CORONA VIRUS) के बीच खाकी वर्दी धारी लगातार मानवता की मिसाल पेश कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला खंडवा (KHANDWA) में सामने आया है जहां जीआरपी (GRP) के जवानों ने ट्रेन (TRAIN) में सफर के दौरान भूख से बिलख रही दो महीने की मासूम बच्ची को दूध (MILK) की बोतल पहुंचाई। लखनऊ (LUCKNOW) का रहने वाला परिवार पुष्पक एक्सप्रेस (PUSHPAK EXPRESS) से मुंबई (MUMBAI) जा रहा था।

ये भी पढ़ें- लॉकडाउन के डर से घर लौट रहे मजदूरों से भरी बस पलटी, मच गई चीख पुकार

 

02_milk.png

इंजन फेल होने के कारण 2 घंटे लेट हुई ट्रेन
लखनऊ के रहने वाले लक्ष्मी प्रकाश अपनी पत्नी व दो महीने की मासूम बच्ची के साथ 02533 पुष्पक एक्सप्रेस से मुंबई जा रहे थे। हरदा के चारखेड़ा के पास ट्रेन का इंजन फेल हो जाने के कारण ट्रेन करीब दो घंटे पर वहीं खड़ी रही। इसी दौरान भूख और गर्मी के कारण मासूम बच्ची काफी परेशान कर रही थी। मां को तकलीफ थी तो वो भी अपना दूध बच्ची को नहीं पिला पा रही थी। ऐसे में लक्ष्मीप्रकाश ने जीआरपी से संपर्क किया और अपनी परेशानी बताई।

 

ये भी पढ़ें- कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच नई गाइडलाइन जारी, जानिए कहां हुई सख्ती

 

ट्रेन के स्टेशन पर पहुंचते ही पहुंचाई दूध की बोतल
यात्री लक्ष्मीप्रकाश ने जीआरपी से मदद की गुहार लगाते हुए बताया कि वो दो महीने की बेटी के साथ कोच नंबर S-5 की बर्थ नंबर-19 पर हैं। मासूम बच्ची भूखी है लिहाजा कुछ मदद पहुंचाई जाए। जीआरपी ने सूचना को गंभीरता से लिया और ट्रेन के स्टेशन पर पहुंचने से पहले ही दूध को गर्म कराया और जैसे ही ट्रेन स्टेशन पर पहुंची तो आरक्षक हरिओम, नंदिनी व रश्मि कोच में पहुंचे और भूख से बिलखती बच्ची को दूध पहुंचाया। जीआरपी के इस कार्य की कोच में सवार सभी यात्रियों ने काफी प्रशंसा की और तालियों से उनका अभिवादन किया।

देखें वीडियो- अस्पताल में भर्ती मां की मौत के बाद बेटियों ने लगाए गंभीर आरोप 

Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned