गणतंत्र दिवस- आन, बान, शान से लहराया तिरंगा

-मार्च पास्ट कर परेड ने दी सलामी, किया हर्ष फायर
-वन मंत्री ने किया ध्वजारोहण, मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन
-नहीं हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम, झांकियों ने मन मोहा

खंडवा.
देश के 72वें गणतंत्र का पर्व मंगलवार को हर्षोल्लास से मनाया गया। गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा आन, बान और शान से लहराया। गणतंत्र दिवस का मुख्य आयोजन गुरु गोविंदसिंघ स्टेडियम में हुआ। वन मंत्री डॉ. विजय शाह ने ध्वजारोहण कर परेड का निरीक्षण किया। प्लाटून ने मार्च पास्ट कर तिरंगे को सलामी दी और हर्ष फायर किए। इसके बाद वन मंत्री द्वारा मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया गया। कोरोना के चलते इस साल सांस्कृतिक आयोजनों की प्रस्तुति नहीं दी गई। वहीं, विभिन्न विभागों द्वारा अपनी उपलब्धियों को लेकर बनाई गई झांकियां गणतंत्र दिवस का मुख्य आकर्षण रही। यहां वन मंत्री द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने वालों को प्रशस्ति पत्र सौंपकर सम्मानित भी किया गया।
स्टेडियम ग्राउंड पर गणतंत्र दिवस के अवसर पर सुबह 9 बजे मंत्री डॉ. शाह द्वारा ध्वजारोहण किया गया। इसके बाद पुलिस, वन विभाग, होमगार्ड, महिला प्लाटून ने मार्च पास्ट किया। स्टेडियम ग्राउंड पर हुए मुख्य आयोजन के पूर्व सभी शासकीय कार्यालयों में भी ध्वजारोहण किया गया। कलेक्टोरेट में कलेक्टर अनय द्विवेदी, पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एसपी विवेक सिंह, जिला पंचायत में सीईओ नंदा भलावे कुशरे, नगर निगम आजाद भवन में निगमायुक्त हिमांशु भट्ट, मेडिकल कॉलेज में डीन डॉ. अनंत पंवार, जिला अस्पताल में सिविल सर्जन डॉ. ओपी जुगतावत सहित अन्य कार्यालयों में भी ध्वजारोहण हुआ। भारतीय जनता पार्टी इंदिरा चौक स्थित कार्यालय में जिलाध्यक्ष सेवादास पटेल, विधायक देवेंद्र वर्मा द्वारा ध्वज फहराया गया। वहीं, कांग्रेस पार्टी द्वारा घंटाघर उद्यान में ध्वजारोहण किया गया।
सजीव झांकियां रही आकर्षण का केंद्र
कोरोना संक्रमण के चलते गणतंत्र दिवस पर देशभक्ति से सराबोर प्रस्तुतियों की कमी को विभिन्न विभागों की झांकियों ने दूर किया। नगर निगम द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण को लेकर झांकी बनाई गई। निगमायुक्त सहित सभी अधिकारी, कर्मचारी झांकी के आगे स्वच्छता का संदेश देते चल रहे थे। वहीं, झांकी के पीछे डोर टू डोर कचरा वाहन भी शामिल हुए। जिला पंचायत ने कोरोना काल में राज्य अजीविका मिशन की महिला स्वसहायता समूहों द्वारा मास्क, सैनेटाइजर निर्माण को दिखाया गया। साथ ही नदी पुनर्जीवन की झांकी भी बनाई गई। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर नर्सों द्वारा सजीव झांकी प्रस्तुत की गई। महिला बाल विकास विभाग ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, आदिमजाति कल्याण विभाग ने कन्या छात्रावास परिसर, पशु चिकित्सा विभाग ने बर्ड फ्लू से बचाव, कृषि कल्याण विभाग ने जैविक खेती की झांकी प्रस्तुत की। इस झांकी के आगे आदिवासी नृत्य की प्रस्तुति देते कलाकार भी शामिल हुए।

Show More
मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned