30 साल बाद हुए सहस्त्र चंडी महायज्ञ में सात दिनों में 51 लाख आहुतियां दी

नवचंडी मंदिर परिसर में हुए सहस्त्र चंडी महायज्ञ

By: dharmendra diwan

Published: 10 Feb 2020, 12:45 PM IST

खंडवा. मां नवचंडी देवीधाम में सात दिवसीय सहस्त्र चंडी महायज्ञ की रविवार को पूर्णाहूति हुई। सात दिनों में यज्ञ में 51लाख आहुतियां दी गई। पूर्णाहूति के बाद मंदिर परिसर में भंडारा हुआ। महंत बाबा गंगाराम के सानिध्य में 3 फरवरी से सहस्त्रचंडी यज्ञ शुरू हुआ। प्रतिदिन आठ घंटे तक चलने वाले महायज्ञ की पूर्णाहुति दिवस रविवार तक 11 क्विंटल हवन सामग्री व 165 किलो देसी घी की आहुतियां दुर्गा सप्तसती के महामंत्र के साथ दी गई।

पं. अखिलेश कुमार शुक्ला के साथ 51 पंडितों के वेदिक मंत्रों उच्चारण से यज्ञ की पूर्णाहुति कराई। मंदिर में प्रतिदिन अलग-अलग यजमानों ने आहुति दी। महंत गंगाराम बाबा ने बताया वर्ष 1992 में मंदिर के निर्माण के दौरान सहस्त्र चंडी महायज्ञ हुआ था। 30 वर्ष बाद दूसरी बार महायज्ञ पूर्ण हुआ है। समापन अवसर पर मंदिर में बड़ी सं या में भक्तों की भीड़ रही। महायज्ञ व मां नवचंडी के दर्शन के बाद श्रद्धालुओं ने प्रसादी ग्रहण की। साथ की मंदिर परिसर में मेले का आयोजन किया गया है। एक माह तक चलने वाले मेले में झूले, दुकानें लगी है। जिसका आनंद उठाने लोग पहुंच रहे।

dharmendra diwan Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned