25 करोड़ से होगा श्री दादाजी धाम का विस्तार

25 करोड़ से होगा श्री दादाजी धाम का विस्तार

Amit Jaiswal | Publish: Jun, 14 2018 12:43:38 PM (IST) Khandwa, Madhya Pradesh, India

5 चरण में होगा निर्माण, इंदौर की कंपनी करेगी काम

खंडवा. श्री दादाजी धाम में मंदिर विस्तारीकरण को लेकर आश्रम में ट्रस्ट की बैठक आहूत की गई। इस दौरान श्री दादाजी धाम में होने वाले निर्माण को लेकर चर्चा की गई। निर्माण का काम इंदौर की कंपनी करेगी। निर्माण लगभग 25 करोड़ की लागत से होगा। जो लगभग 15500 स्क्वेयर फीट में किया जाएगा। यह पांच चरणों में होगा।

निर्माण के दौरान मां नर्मदा मंदिर, गंगाजल भंडारगृह व भजन कक्ष को शिफ्ट किया जाएगा। जिसके चलते धूनीमाई के पास खाली जगह बढ़ जाएगी और उत्सवों के दौरान भक्त बड़ी संख्या में श्री बड़े दादाजी के सामने एकत्रित हो सकेंगे। ट्रस्ट द्वारा कुछ दिनों पहले ही मार्किंग का काम कराया गया था।

विस्तारीकरण गुरुपूर्णिमा के एक सप्ताह बाद होगा। श्री दादाजी धाम में निर्माण के दौरान लगने वाला लाल पत्थर बंशी पहाड़पुर से आएगा। इसके लिए ट्रस्ट तैयारी कर चुका है। निर्माण कार्य के दौरान दरवार के प्रवेश द्वारों में कोई बदलाव नहीं होगा। वर्तमान की स्थिति के अनुसार ही रहेंगे। बैठक में ट्रस्टी लखीमचंद अग्रवाल, प्रकाश बाहेती, नंदकिशोर श्रीमाली व अन्य मौजूद थे। ट्रस्टी लखीमचंद अग्रवाल ने बताया कि श्री दादाजी धाम में विस्तारीकरण को लेकर रविवार बैठक हुई। इंदौर की गोमती इंटरप्राइजेस को काम दिया है। इसकी लगभग लागत 25 करोड़ रहेगी। काम गुरुपूर्णिमा के बाद शुरू होगा। जो पांच चरण में किया जाएगा।

पांच चरण में होगा काम
विस्तारीकरण का काम 5 चरणों में किया जाएगा। सबसे पहले धूनीमाई के पास काम शुरू होगा। जो 2881 स्क्वेयर फीट है। यहां लगभग 20 खंभों से निर्माण होगा। दूसरे चरण में श्री छोटे दादाजी महाराज मंदिर का काम होगा। यह 3670 स्क्वेयर फीट है। वहीं तीसरे चरण में श्री बड़े दादाजी महाराज के बाजू में खाली जगह 3670 स्क्वेयर फीट पर काम किया जाएगा। चौथे चरण में श्री बड़े दादाजी मंदिर के पीछे खाली जगह में काम होगा। यह 2100 स्क्वेयर फीट है। वहीं विस्तारीकरण के आखिरी चरण में श्री बड़े दादाजी महाराज के मंदिर का काम होगा।

...और इधर, बड़े भंडार में चूल्हों की गोबर से लिपाई, गुरुपूर्णिमा से पहले यहां आ जाएगा पत्थर
दादाजी धाम में तीन दिनी गुरुपूर्णिमा महोत्सव की तैयारियां शुरू हो गईं हैं। यहां बड़े भंडार में चूल्हों की गोबर से लिपाई-छबाई की गई तो वहीं फ्लोरिंग को बदलने का काम भी शुरू कर दिया गया है। मंदिर निर्माण के लिए पत्थर भी तय हो गया है। गुरुपूर्णिमा से पहले यहां आने की संभावना है। मंदिर निर्माण को पांच चरणों में करने की कार्ययोजना तैयार हुई है। पहले चरण के तहत गंगाजल और नर्मदा जल भंडारगृह को शिफ्ट करने के लिए बड़ी धूनीमाई के पास में खाली जगह पर काम शुरू कर दिया गया है। बुधवार को यहां पर दीवार तोडऩे का काम हुआ। अस्थायी रूप से टीन शेड बनाया जाएगा, जिसमें पुराने गंगाजल व नर्मदा जल भंडारगृह जैसी सुविधा ही होगी। बता दें कि गुरुपूर्णिमा के बाद मंदिर विस्तारीकरण का काम होगा। उससे पहले ट्रस्ट द्वारा कुछ काम कराए जा रहे हैं। बता दें कि 10 जून को मंदिर में हुई बैठक में मंदिर में लगने वाले पत्थर के रंग व गुणवत्ता तय करने के लिए समिति बनाई गई थी, इस समिति ने राजस्थान जाकर पत्थर तय कर दिया है। मंदिर निर्माण के लिए दिसंबर-2017 में ट्रस्ट ने भूमिपूजन कराया था।

- एक साल में पूरा करेंगे पहला चरण
दादाजी धाम में गुरुपूर्णिमा की तैयारियां शुरू हो गईं हैं। यहां इसी महीने राजस्थान के बंशी पहाड़पुर से पत्थर आ जाएगा। पहले चरण में बड़े दादाजी मंदिर के सामने धूनीमाई व आसपास 2881 वर्गफीट के निर्माण को अगली गुरुपूर्णिमा तक पूरा करने का लक्ष्य है।
सुभाष नागोरी, ट्रस्टी, दादाजी धाम

Ad Block is Banned