scriptSon reached Khandwa after hearing the news of mother's death | मां की मौत की खबर सुन 1800 किमी का सफर तय कर खंडवा पहुंचा बेटा | Patrika News

मां की मौत की खबर सुन 1800 किमी का सफर तय कर खंडवा पहुंचा बेटा

सड़क हादसे में हुई थी मां की मौत, बिहार से वणी जाने के बाद आया बेटा, इंतजार में तीन दिन रखा रहा शव

खंडवा

Published: May 30, 2022 11:23:18 am

खंडवा. ओंकारेश्वर दर्शन करने के लिए बैतूल से बेटी, भतीजे और भतीजी के साथ कार में जा रही महिला सड़क हादसे का शिकार हो गई। कार पलटने से महिला की मौत हो गई और दो युवतियों को गंभीर चोट आई। 25 मई को हुए इस हादसे के बाद बिहार में रहने वाले मृतका के बेटे को पुलिस ने खबर दी। यहां स्थानीय रिश्तेदार शव की सुपुर्दगी लेने से पीछे हट गए तो शव तीन दिन तक मरच्युरी में ही रखा रहा। मां की मौत की खबर सुन बेटा 26 मई को ही बिहार से रवाना हो गया था। पत्नी और बच्चों को महाराष्ट्र के वणी में छोड़ने के बाद वह 28 मई की शाम 6 बजे खंडवा के जिला अस्पताल पहुंचा। यहां आने के बाद भी उसे मां के अंतिम दर्शन के लिए 14 घंटे मरच्युरी के बाहर ही इंतजार करना पड़ा।
यह है मामला
वणी जिला यवतमाल निवासी पुष्पा पत्नी जोगेन्द्र सिंह (55) अपनी बेटी निक्की उर्फ निकिता (27), भतीजा अभिषेक सिंह (27), भतीजी पिंकी (29) के साथ कार में सवार होकर 25 मई को निकली थीं। यह सभी बैतूल से ओंकारेश्वर जा रहे थे। देसली गांव के पास अचानक इनकी कार पलट जाने से पुष्पा, पिंकी और निकिता को खंडवा जिला अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टरों ने पुष्पा को मृत घोषित कर दिया और दोनों युवतियों को रेफर कर दिया। मृत्यु की सूचना अस्पताल में मौजूद रहे अभिषेक के अलावा पुलिस ने मृतका के पुत्र सन्नी सिंह को फोन पर दी।
फोन आते ही रवाना हुए
मृतका के पुत्र सन्नी का कहना है कि उनके पास एएसआइ जाधव का फोन 26 मई को आया। मां की मृत्यु की खबर सुनते ही वह परिवार को लेकर रवाना हो गए। साथ में महिला थी इसलिए 1200 किमी की दूरी तय कर उसे पहले वणी छोड़ा फिर वहां से 600 किमी खंडवा तक आए। आने से पहले भी पुलिस को सूचना दी थी कि पहुंचने वाले हैं। बकौल सन्नी, शनिवार 28 मई की शाम 6 बजे वह यहां आ चुका था।
खंडवा में किया अंतिम संस्कार
मृतका के पुत्र सन्नी का कहना है कि उसने पुलिस से निवेदन किया था कि अस्पताल में जो भी रिश्तेदार हैं, उन्हें शव सुपुर्द कर दिया जाए। सन्नी को बिहार से खंडवा आने में समय लगता इसलिए उसने पुलिस को शव सुपुर्दगी के लिए कहा था, लेकिन रिश्तेदारों ने पुलिस शव नहीं लिया। ऐसे में तीन दिन शव रखा रहा। सन्नी के साथ उसके रिश्तेदार बैधनाथ सिंह समेत अन्य यहां पहुंचे थे। रविवार 29 मई को शव सुपुर्दगी के बाद पुष्पा के शव का अंतिम संस्कार खंडवा में ही करने के बाद परिजन रवाना हो गए।
Son reached Khandwa after hearing the news of mother's death
Son reached Khandwa after hearing the news of mother's death

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा, 160 विधायकों के साथ नई सरकार बनाने का दावा किया पेशBihar Political Crisis: नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा, अब महागठबंधन के साथ बनाएंगे सरकारBihar Political Crisis: नीतीश कुमार ने इस्तीफा सौंपने के बाद कहा - 'बीजेपी के साथ एक नहीं कई दिक्कतें थीं''मुफ्त रेवड़ी' कल्चर के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट पहुंची आम आदमी पार्टी, कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजानाMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपMaharashtra: सीएम एकनाथ शिंदे अपनी ‘मिनी’ टीम का सितंबर में करेंगे विस्तार, सामने आई यह बड़ी अपडेटगुजरात के जामनगर में मुहर्रम पर बड़ा हादसा, ताजिया जुलूस में करंट लगने से दो की मौत, कई घायललालू-नीतीश की दोस्ती से ढह जाते हैं सारे समीकरण, जानिए फिर कैसे कम हुई दोनों के बीच दूरियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.