पुत्र ही निकला पिता का हत्यारा, हरसूद पुलिस ने 48 घंटे में किया खुलासा

-बाल अपचारी ममेरे भाई के साथ मिलकर की थी पिता की हत्या
-होली के दिन पिता पहुंचा था मां और बच्चों से मिलने, हुआ विवाद तो उतार दिया था मौत के घाट

खंडवा.
हरसूद पुलिस ने ग्राम बोरीबादरी में घोड़ापछाड़ नदी पुल के नीचे मिले शव की हत्या की गुत्थी 48 घंटे में सुलझा ली। मृतक के बेटे ने अपने नाबालिग ममेरे भाई के साथ मिलकर पिता की हत्या को अंजाम दिया था। होली के दिन पिता अपनी पत्नी और बच्चों से मिलने छनेरा पहुंचा था। नशे में हुए विवाद के बाद पुत्र पिता को छोडऩे जा रहा था। इसी दौरान घोड़ापछाड़ नदी पुल के पास दोबारा विवाद होने पर पुत्र ने ममेरे भाई के साथ मिलकर पिता को मौत के घाट उतार दिया।
गुरुवार को पुलिस कंट्रोल रूम में एएसपी देहात प्रकाश परिहार ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि 29 मार्च को बोरीबादरी ग्राम के पास घोड़ापछाड़ नदी के पुल के नीचे रक्तरंजीत शव मिला था। शव की शिनाख्त गोकूल पिता जगदीश पंवार (43) निवासी सेमरूड़ थाना किल्लौद के रूप में हुई थी। घटनास्थल से मृतक का घर 45 किमी दूर था। मामले में एसपी विवेक सिंह के निर्देशन में एसएसपी देहात के मार्गदर्शन में एसडीओपी हरसूद रवींद्र वास्कले के नेतृत्व में हरसूद टीआई अमित कोरी ने विवेचना आरंभ की। इस दौरान जानकारी में आया कि गोकूल 28 मार्च को अपनी पत्नी और बच्चों से मिलने अपनी ससुराल छनेरा-हरसूद आया था। यहां उसका किसी से कोई विवाद नहीं था।
नशे में किया विवाद, इसलिए मार डाला
एएसपी प्रकाश परिहार ने बताया कि गोकूल की पत्नी पारिवारिक विवाद के चलते पिछले 6-7 साल से अपने मायके में रह रही थी। घटना वाले दिन उसे अपने पुत्र के साथ देखा गया था। पुलिस ने गोकूल के पुत्र लोकेश को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो सारा मामला खुल गया। आरोपी लोकेश ने बताया कि मंजाधड़ में पत्नी और बेटी से मिलने के दौरान गोकूल नशे में था और विवाद करने लगा। जिसके बाद लोकेश और उसके मामा के लड़के अपचारी बालक ने वहां से भगा दिया था। लोकेश अपने मामा के लड़के के साथ पिता को बाइक पर बैठाकर छोडऩे जा रहा था। यहां सडिय़ापनी ब्रिज के पास कच्ची सड़क पर गोकूल ने मंजाधड़ से भगाए जाने की बात पर दोबारा विवाद किया और लोकेश को पीटने लगा। जिस पर लोकेश के ममेरे भाई अपचारी बालक ने गोकूल के सिर पर पत्थर मार दिया। इसके बाद लोकेश ने ने उसे नीचे पटका और सिर पर बड़ा पत्थर मार दिया। बेहोश गोकूल को दोनों ने सिर और मुंह पर गमछा लपेट कर बाइक पर बैठाया और घोड़ापछाड़ नदी के पुल पर ले जाकर नीचे फेंक दिया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त पत्थर, बाइक और मृतक की चप्पल बरामद की।

Show More
मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned