कम आया स्टाक, सिर्फ तीन दिन की मेडिकल ऑक्सीजन बाकी

कम आया स्टाक, सिर्फ तीन दिन की मेडिकल ऑक्सीजन बाकी

By: harinath dwivedi

Published: 09 Apr 2021, 10:11 AM IST

खंडवा. कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों को रोजाना दो हजार लीटर (दो केएल) मेडिकल ऑक्सीजन लग रही है। मेडिकल कॉलेज के ऑक्सीजन प्लांट के 10 केएल क्षमता वाले सिलेंडर में सिर्फ 6 केएल ऑक्सीजन बची है। इसमें से भी 5 केएल ऑक्सीजन तो गुरुवार को मिली है, जिससे तीन दिन का स्टाक ही हो पाया है। गुरुवार यदि ऑक्सीजन की सप्लाय नहीं होती तो स्थिति गंभीर हो सकती थी। वहीं, ऑक्सीजन प्लांट में लगाया गया एअर सेपरेशन सिस्टम गुरुवार को भी शुरू नहीं हो पाया।
एक सप्ताह पूर्व तक 12 सौ से 13 सौ लीटर ऑक्सीजन की रोज खपत हो रही थी। अब ऑक्सीजन की खपत 2 हजार लीटर पर पहुंच गई है। गुरुवार शाम को कुल 5 हजार लीटर लिक्विड ऑक्सीजन की पूर्ति आयनामेक्स कंपनी द्वारा की गई। देश में चल रही मेडिकल लिक्विड ऑक्सीजन की किल्लत के चलते कंपनी द्वारा सप्लाय कम कर दी गई है। ऑक्सीजन की कमी के चलते गुरुवार को जिपं सीइओ नंदा भलावे कुशरे ने जिला अस्पताल में बैठक भी ली।
मेडिकल कॉलेज के ऑक्सीजन प्लांट पर लगे एअर सेपरेशन सिस्टम का काम भी अब तक पूरा नहीं हो पाया है। पीआइयू द्वारा यहां तकनीकी त्रुटियां भी दूर नहीं की गई। इस सेपरेशन सिस्टम से हवा में मौजूद ऑक्सीजन को साफ कर मेडिकल ऑक्सीजन में बदला जाएगा। एअर सेपरेशन सिस्टम से रोजाना करीब 60 से 70 ऑक्सीजन सिलेंडर (350 लीटर) की राहत मिल जाएगी। यहां अभी तक सिस्टम को शुरू करने के लिए इंजीनियर भी नहीं पहुंचा है।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned