scriptSupport price : Government took loan, did not send 2.45 crore | समर्थन मूल्य : सरकार ने कर्ज ले लिया, खाते में नहीं भेजा 2.45 करोड़, जानिए क्यों | Patrika News

समर्थन मूल्य : सरकार ने कर्ज ले लिया, खाते में नहीं भेजा 2.45 करोड़, जानिए क्यों

जिले में अब तक समर्थन मूल्य पर 232 किसानों ने बेचा गेहूं, बीस दिन बाद भी 71 केन्द्रों पर तौल की प्रगति शून्य

खंडवा

Published: April 17, 2022 09:33:42 pm

खंडवा. जिले में समर्थन मूल्य पर अब तक 15 हजार क्विंटल से ज्यादा गेहूं की तौल हो चुकी है। जिसकी कीमत 3.11 करोड़ रुपए से अधिक होती है। अन्नदाता की गाढ़ी कमाई के भुगतान से पहले ही पहले ही सरकार ने सहकारी समितियों का 66 लाख रुपए से अधिक का कर्ज काट लिया गया है। इसके बावजूद अभी तक किसानों के खाते में 2.45 करोड़ रुपए से अधिक का समर्थन मूल्य खाते में नहीं पहुंचा। दरअसल अभी तक विपणन अधिकारी ने स्वीकृत पत्रक नहीं जारी किया है। जिससे भुगतान लटका हुआ है। पत्रक जारी होते ही भुगतान हो जाएगा।
Support price
Support price
71 केन्द्रों पर तौल की प्रगति शून्य
जिले में 28 मार्च से गेहूं की तौल शुरू हो गई। 86 खरीद केन्दों पर 16 अप्रैल की शाम 5 बजे की स्थित में 15 केन्द्रों पर ही 232 किसानों ने ही उपज की तौल की है। इतना ही नहीं तौल चालू हुए बीस दिन हो गए। इसके बाद भी 71 केन्द्रों पर तौल की प्रगति शून्य है। तौल चालू हुए पखड़ा बीत गया। फिर भी खरीद केन्द्रों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। अधिकारियों का दावा है कि समर्थन मूल्य से अधिक गेहूं का दाम अभी भी बाजार में मिल रहा है। जिससे किसान कम आ रहे हैं।
अब तक इन केन्द्रों पर तौल शुरू
नागरिक आपूर्ति निगम की रिपोर्ट के अनुसार महिला स्व सहायता समूह राधे-राधे दौलतपूरा में 57 किसानों ने गेहूं बेचा है। महिला समूह ने अब तक 3900 क्विंटल से अधिक गेहूं की तौल की है। इसी तरह रीछफल पुनासा केन्द्र में 11 किसानों ने गेहूं की तौल की है। सहकारी समिति रोशनी में 41 किसानों ने 1470 क्विंटल तौल की है। वेयर हाउस अटूट खास में 32 किसानों ने 2109 क्विंटल, दौलतपुरा में 28 किसानों ने 3261 क्विंटल, सक्तापुर व खारकला में एक-एक किसानों ने उपज बेची है। कालमुखी महाबल वेयर हाउस परिसर में 19 किसानों ने 925 क्विंटल उपज की तौल की है।
20 प्रतिशत गेहूं का परिवहन बाकी
खरीद केन्द्रों पर अब तक किसानों के द्वारा तौल किए गए उपज में अधिकारियों का दावा है कि 83 प्रतिशत परिवहन हो चुका है। परिवहन होने के बाद गेहूं गोदाम में जमा हो गया तो किसानों के भुगतान में देरी क्या हो रही है। नियम है कि केन्द्र पर तौल के बाद जैसे ही वेयर हाउस में गेहूं जमा होगा। फौरत किसानों के खाते में समर्थन मूल्य जारी कर दिया जाएगा। बीस प्रतिशत परिवहन बाकी है। जिससे भुगतान प्रभावित है। जबकि रिपोर्ट के अनुसार रेडी टू ट्रांपोर्ट की रिपोर्ट 14 हजार क्विंटल है।
फैक्ट फाइल
अब तक गेहूं की तौल चालू होने वाले केन्द्रों की संख्या 15
अब तक गेहूं बेचने वाले किसान 332
केन्द्रों पर बेची गई उपज की कीमत 3.11 करोड़
कर्ज काटने के बाद शुद्ध बाकी भुगतान 2.45 करोड़
वर्जन...
हमारे कार्यालय से स्वीकृत पत्रक जारी हो गए हैं। किसानों का भुगतान ऑनलाइन होगा। भुगतान की जानकमारी सहकारी बताएंगे।
रोहित श्रीवास्तव, विपणन अधिकारी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मीन राशि में वक्री होंगे गुरु, इन राशियों पर धन वर्षा होने के रहेंगे आसारइन राशियों के लोग काफी जल्दी बनते हैं धनवान, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानभाग्यवान होती हैं इन नाम की लड़कियां, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानऊंची किस्मत वाली होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, करियर में खूब पाती हैं सफलताधन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीweather update news..मौसम की भविष्यवाणी सटीक, कई जिलों में तूफानी हवा के साथ झमाझमस्कूल में 15 साल के लड़के से बनाए अननेचुरल संबंध, वीडियो भी बनाया

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: अब महाराष्ट्र के NCP-कांग्रेस विधायकों पर बीजेपी की नजर! सांसद नासिर हुसैन ने किया बड़ा दावाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में नई सरकार की कवायद हुई तेज, दिल्ली में आज देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हो सकती है मुलाकात1 जुलाई से महंगाई के नए कदम, जुलाई में भी जेब कटने का सिलसिला रहेगा जारी, हो रहे हैं 7 बड़े बदलावपीएम मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री को तोहफे में दिए खास बर्तन, जानिए जी-7 के दूसरे दोस्तों को क्या किया गिफ्ट?पटना हाईकोर्ट का बड़ा फैसला - 'अगर पीड़िता ने नहीं किया विरोध, तो इसका मतलब ये नहीं की रेप के लिए सहमति दी'Maharashtra Political Crisis: शिवसेना के दावे को एकनाथ शिंदे ने नकारा, बोले-अगर आपके संपर्क में विधायक हैं तो उनके नाम का करें खुलासाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र के सियासी संकट के बीच BJP की शिकायत पर एक्टिव हुए राज्यपाल, MVA सरकार के फैसलों की मांगी डिटेल्सGST Council की 47वीं बैठक चंडीगढ़ में शुरू, दिख सकता है भरपूर एक्शन: Petrol-Diesel को जीएसटी में लाने समेत कई अहम फैसलों पर नजर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.