सात साल बाद खुला टैंक, ट्रस मजबूत करने बदलेंगे डिजाइन

स्वीमिंग पूल : स्वतंत्र एजेंसी की रिपोर्ट पर कॉलम तुड़वाए

खंडवा. शहर के सिविल लाइंस क्षेत्र में बन रहे स्वीमिंग पूल पर स्वतंत्र एजेंसी की रिपोर्ट के बाद अब काम शुरू हुआ है। नगर निगम और कांट्रेक्टर ने इस रिपोर्ट के आधार पर सात साल बाद स्वीमिंग पूल का टैंक खुलवाया है। ट्रस डाले जाने से पहले इसकी ड्राइंग में बदलाव भी शुरू हो गया है। गुरुवार को स्वीमिंग पूल का टैंक खुलवाया गया। इससे पहले हैलोजन लगाकर यहां उजाला किया गया। फिर मजदूरों को इसमें उतारकर सफाई कराई गई।

साढ़े चार करोड़ रुपए की लागत वाले स्वीमिंग पूल में लीकेज को तलाशने पर काम इसी सप्ताह शुरू हुआ है और अब टैंक की सफाई पर फोकस किया जा रहा है। बीते दिनों निगमायुक्त हिमांशु सिंह ने यहां निरीक्षण इंजीनियर्स को निर्देश दिए थे। कलेक्टर तन्वी सुन्द्रियाल ने स्वीमिंग पूल का काम पूरा करने के लिए 15 मार्च तक की डेडलाइन दी है।

एजेंसी की रिपोर्ट बनी है आधार
भोपाल से मिले निर्देशों के बाद निगम ने जीएसआइटीएस के विशेषज्ञों से संपर्क साधकर वहां के विशेषज्ञों से स्वीमिंग पूल का निरीक्षण करवाया। यहां दल ने 5 ट्रस को देखा, जो लगी हुई है। इसके अलावा जो ट्रस बनकर तैयार हैं, उसका भी परीक्षण किया। रिपोर्ट में टेंडर में गड़बड़ी के लिए तत्कालीन आयुक्त, ईई व प्रभारी ईई, उपयंत्री और कसंलटेंट को उत्तरदायी पाया गया था।


07 साल से चल रहा प्रोजेक्ट
4.34 करोड़ रुपए का कांट्रेक्ट
13 में से पांच ट्रस ही लगी है यहां
15 मार्च की डेडलाइन कलेक्टर ने की है तय

फ्लैश बैक...
जनभागीदारी से 1.20 करोड़ रु. में शुरू हुआ था काम।
16 जनवरी 2019 को निर्माणाधीन ट्रस यहां धड़ाम हो गया था।

अब ये कर रहा है निगम
- ट्रस में स्वतंत्र एजेंसी द्वारा बताए गए संशोधन अनुसार मेम्बर्स बदले जा रहे हैं।
- निमाड़ नर्सरी तरफ की वॉल में कांक्रीट को बे्रकर से तोड़ रहे, ट्रस इसमें जैकेट होगा।

स्वीमिंग पूल को लेकर स्वतंत्र एजेंसी की रिपोर्ट के आधार पर जरूरी रद्दोबदल करते हुए काम कर रहे हैं। लीकेज को खत्म करना है, इसलिए टैंक की सफाई कराकर उसकी वाटरप्रूफिंग कराएंगे। ट्रस की मजबूती के लिए भी प्रयास कर रहे हैं।
हिमांशु सिंह, आयुक्त, ननि

अमित जायसवाल Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned