इन शिक्षकों ने बदला नजरिया और बदल दी तस्वीर

शिक्षक दिवस आज...जिले के ऐसे शिक्षकों की कहानियां पढि़ए जिन्होंने नई सोच के साथ किया काम, राष्ट्रपति अवॉर्ड का सूखा खत्म नहीं हुआ, राज्यस्तरीय अवॉर्ड के लिए एक शिक्षक चयनित

खंडवा. परिस्थितियों के अनुकूल नहीं होने व समस्याओं का अंबार होने पर भी उनसे बचने के प्रयास न करते हुए उनके समाधान की दिशा में सोचने वाले शिक्षकों ने नजरिया बदलते हुए तस्वीर बदली है। शिक्षक दिवस के मौके पर ऐसे ही शिक्षकों की कहानियां पढि़ए, जिन्होंने नई सोच के साथ काम किया। इधर, राष्ट्रपति अवॉर्ड का 16 साल का सूखा खत्म नहीं हुआ है। लेकिन, राज्यस्तरीय अवॉर्ड के लिए एक शिक्षक का चयन हुआ है।

पढि़ए, बेहतर काम करने वाले शिक्षकों की कहानियां
1. वीडियो से सरल की अंग्रेजी व गणित की कठिन अवधारणाएं
नाम: अनंत तिवारी
स्कूल: शासकीय बालक प्राथमिक शाला, सिंगोट, ब्लॉक- पंधाना
- विभिन्न शिक्षक प्रशिक्षण व शिक्षक संवाद के द्वारा शिक्षकों को प्रशिक्षित करने के साथ ही सिंगोट में पदस्थ होने के बाद कुछ ही समय में शाला भवन व बच्चों के स्तर में अद्भुत सुधार लाए। लॉकडाउन के दौरान वीडियो के माध्यम से अंग्रेजी व गणित में कठिन अवधारणाओं को सरल करके प्रस्तुत किया। विभिन्न धार्मिक व सांस्कृतिक आयोजनों के माध्यम से ग्रमीणों को विद्यालयीन गतिविधियों से जोडऩे का सफल प्रयास किया गया।

2. कोरोना संक्रमण काल में उपयोगी सिद्ध हो रही सोच
नाम: आनंद कुमार जैन
स्कूल: शा. उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, आनंद नगर, ब्लॉक- खंडवा
- जैन को अध्यापन का 21 वर्ष का अनुभव है। विषय का परीक्षा परिणाम अधिकांश समय 100 फीसदी रहा है। पाठ्यक्रम की विषय वस्तु का व्यावहारिक जीवन से संबंध स्थापित करते हुए, रोचक व सरल ढंग से अध्यापन कराते हैं। बीते 5 साल से लगातार विद्यार्थियों को परियोजना कार्य के रूप में पाठ्यक्रम की विषय वस्तु , समाचार पत्र, दूरदर्शन, आकाशवाणी में कहां पर दिखाई व सुनाई जाती है, इससे संबंधित परियोजना कार्य विद्यार्थियों को प्रदान कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण काल में यह उपयोगी सिद्ध हो रही है।

नवाचारों के बूते गौर को राज्यस्तरीय पुरस्कार
गणित यंत्र बनाने, कोरोना काल में मास्क बांटने, स्वयं के खर्च से विद्यार्थियों को कॉपी, पेन व अन्य सामग्री उपलब्ध कराने वाले, खुद के खर्च पर पौधरोपण करने वाले नवाचारी शिक्षक जगदीश गौर को इस बार राज्यस्तरीय शिक्षक पुरस्कार-2020 के लिए चुना गया है। बलड़ी विकासखंड के शा. प्राथमिक स्कूल मिनावा माल में पदस्थ गौर को शॉल, श्रीफल, प्रशस्ति पत्र व सम्मान निधि के रूप में 25 हजार रुपए प्रदाय किए जाएंगे। गौरतलब है कि 16 साल पहले शिक्षिका अरुणा तिवारी को राष्ट्रपति पुरस्कार मिला था, जिसके बाद से ये सूखा खत्म नहीं हुआ है। लेकिन, राज्यस्तर का पुरस्कार मिलने से थोड़ी राहत जरूर है।

ऑनलाइन राज्यस्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह स्थगित
वर्ष-2020 के लिए राज्यस्तरीय शिक्षक सम्मान 5 सितंबर को ऑनलाइन वेबीनार के माध्यम से आयोजित किए जाने के निर्देश दिए गए थे। सामान्य प्रशासन विभाग के वायरलेस संदेश के अनुसार, पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के निधन के कारण 31 अगस्त से 6 सितंबर तक राष्ट्रीय शोक होने के कारण 5 सितंबर को ऑनलाइन वेबीनार के माध्यम से आयोजित राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह स्थगित किया गया है। लोक शिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं।

अमित जायसवाल Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned