paragliding accident : हनुवंतिया में पैराग्लाइडिंग हादसे की ये वजह आई सामने

हनुवंतिया में पैराग्लाइडिंग के दौरान 250 फीट से गिरे इवेंट कंपनी के कर्मचारियों की मौत का मामला
तकनीकी खराबी के कारण हुई दुर्घटना, पैराशूट खोलने का भी नहीं मिला मौका

By: tarunendra chauhan

Updated: 22 Jan 2021, 09:55 AM IST

खंडवा. पैराग्लाइडिंग के ट्रॉयल के दौरान 250 फीट ऊपर से गिरकर हुई इवेंट कंपनी के दो कर्मचारियों की मौत के मामले के बाद गुरुवार को हनुवंतिया में सन्नाटा पसरा रहा। दुर्घटना का कारण पैरा मोटर में तकनीकी खराबी और पैराशूट का तार टूटना बताया जा रहा है। इधर, घटनाक्रम में हुई मौत के बाद गुरुवार को मृतकों के परिजन शव लेने के लिए मूंदी पहुंचे। शव लेने पहुंचे मृतक बालचंद पिता रामप्रताप दांगी (32) निवासी भगोर (राजगढ़) के परिजन गोपाल दांगी ने कहा बालचंद पैराग्लाइडिंग में दक्ष था। वह सात वर्षों से अलग-अलग स्थानों पर जाकर पैराग्लाइडिंग करता था। खास बात यह है कि पैराग्लाइडिंग करते हुए पॉयलट के पास आपात स्थितियों से निपटने के लिए पैराशूट होता है, लेकिन घटना के दौरान बालचंद को पैराशूट खोलने का भी मौका नहीं मिला और जमीन पर गिरने से पॉयलट बालचंद पिता रामप्रताप दांगी (32) निवासी भगोर (राजगढ़) और साथी गजपालसिंह पिता सुरेन्द्रसिंह राजपूत (28) निवासी गुडामांगलियान पाली (राजस्थान) की मौत हुई थी। जिला प्रशासन मामले की मजिस्ट्रीयल जांच करा रहा है।

घटनाक्रम के प्रत्यक्षदर्शी कैलाश रायके निवासी ग्राम हनुवंतिया ने बताया मैं करीब पांच सालों से चाय की दुकान चला रहा हूं। बुधवार शाम करीब 6 बजे थे। कंपनी के कर्मचारी पैराग्लाइडिंग का ट्रॉयल और पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए उड़ान भर रहे थे। तभी अचानक पैराशूट की रस्सी टूटी और पैराग्लाइडिंग लहराते हुए जमीन पर आ गिरी। यह पहली घटना नहीं है। इसके पहले भी पैराग्लाइडिंग के पंखे और मोटर बंद हो चुकी है। लेकिन कर्मचारी पैराशूट की मदद से धीरे-धीरे नीचे उतर आते थे। इस बार ऐसा नहीं हुआ और दो लोगों की मौत हो गई।

एंडवेंचर के उपकरणों की नहीं होती है जांच
हनुवंतिया में एयर एक्टिविटी सहित अन्य इवेंट का ठेका सन सेट डेजर्ट इवेंट मैनेजमेंट कंपनी को पांच साल के लिए दिया गया है। इस जल महोत्सव में यही कंपनी एयर एक्टिविटी करा रही है। लेकिन इसमें खास बात यह है कि महोत्सव के दौरान पर्यटकों के लिए एक्टिविटी कराने के लिए कंपनी द्वारा लाए जाने वाले उपकरण व मशीनों की जांच नहीं की जाती है। इसमें न तो पर्यटन निगम उपकरणों के सुरक्षा मापदंडों की जांच करता है और न ही स्थानीय प्रशासन द्वारा इसकी खबर ली जाती है। नतीजा पैराग्लाइडिंग दुर्घटना में दो लोगों की मौत हो गई।

ये सवाल भी उठ रहे
पैराग्लाइडिंग मशीन में तकनीकी खराबी होने की बात कही जा रही है। इसके बाद भी उड़ाने भरने की अनुमति क्यों दी गई?
पर्यटन निगम व प्रशासन द्वारा इवेंट कंपनी के द्वारा उपयोग किए जाने वाले उपकरणों के सुरक्षा मापदंड़ों की जांच क्यों नहीं की जा रही?
हनुवंतिया में बोर्ट क्लब के पास सुरक्षा गार्ड तैनात नहीं रहता और न ही रेलिंग की व्यवस्था की गई है।

घटनास्थल का मौका मुआयना किया है। कंपनी के पदाधिकारी नहीं मिले। स्थानीय लोगों से घटना के संबंध में पूछताछ की। लेकिन कोई भी घटना के संबंध में स्पष्ट नहीं बता पा रहा है। घटना के कारणों की पड़ताल की जा रही है। पैराग्लाइडिंग एक्सपर्ट की राय ली जाएगी। जांच के आधार पर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।
- चंद्रशेखर सोलंकी, एसडीएम

Show More
tarunendra chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned