दो माह में बिगड़ गई शहर की आबोहवा

-धूल और धुआं मानव स्वास्थ्य के लिए हो रहा खतरनाक साबित
-वायु प्रदूषण की सूची में 14वें से 27वें स्थान पर पहुंचा खंडवा
-तीन माह में वायु की शुद्धता हुई कम, 94.95 हुआ एआइक्यू

खंडवा.
वायु प्रदूषण के मामले में शहर की स्थिति धीरे धीरे चिंताजन की ओर बढ़ती जा रही है। मप्र प्रदूषण बोर्ड द्वारा हर माह वायु प्रदूषण को लेकर हर माह प्रदेश के 52 जिलों की सूची जारी की जाती है। इस माह जारी हुई बोर्ड की सूची में नवबंर माह में खंडवा 27वें स्थान पर पहुंच गया है। जबकि पिछले दो माह में स्थिति ठीक थी। हालांकि बोर्ड की सूची में खंडवा अभी भी संतोषजनक शहरों में ही शामिल है।
मप्र प्रदूषण बोर्ड द्वारा नवंबर माह में जारी की गई सूची में खंडवा का एअर क्वालिटी इंडेक्स 94.95 प्रतिशत रहा है। इसके पूर्व अक्टूबर माह में खंडवा का एक्यूआइ 80 प्रतिशत था और खंडवा प्रदूषण बोर्ड की सूची में 21वें स्थान पर था। सितंबर में एक्यूआइ 68.99 प्रतिशत रहा और खंडवा 14वें स्थान पर था। सितंबर, अक्टूबर की तुलना में शहर की वायु नवंबर में ज्यादा प्रदूषित हुई है। इसका कारण शहर की सड़कों पर उड़ती धूल, वाहनों से निकल रहा धुआं है। बढ़ता वायु प्रदूषण सांस संबंधित बीमारियों को भी बढ़ावा दे रहा है। विशेषज्ञों का मानना है कि शहर में बढ़ते वायु प्रदूषण को रोकने के लिए कोई उपाय नहीं किए गए तो स्थिति बिगड़ भी सकती है।
पड़ोसी जिलों की हवा भी हुई अशुद्ध
निमाड़ के चारों जिलों में वायु प्रदूषण की स्थिति बिगड़ी है। हालांकि पड़ोसी जिलों बुरहानपुर, खरगोन और बड़वानी की तुलना में खंडवा थोड़ी अच्छी स्थिति में है। बुरहानपुर 116.07 एक्यूआइ के साथ 21वें स्थान पर और बड़वानी 108.14 एक्यूआइ के साथ 20वें स्थान पर मध्यम गंभीर श्रेणी में है। वहीं, खरगोन 97.04 एक्यूआइ के साथ 25वें स्थान पर संतोषजनक शहरों की श्रेणी में है।
ये होता है एक्यूआइ
प्रदूषण बोर्ड द्वारा वायु की शुद्धता को 6 श्रेणियों में बांटा गया है। जिसमें अच्छी, संतोषजनक, थोड़ा प्रदूषित, खराब, बहुत खराब और गंभीर श्रेणी शामिल है। एक्यूआइ निकालने के लिए प्रदूषण बोर्ड द्वारा पीएम 10 (हवा में धूल के कण), पीएम 2.5 नाइट्रोआक्साइड, ग्राउंड लेवल ओजोन सहित तीन अन्य तत्वों की मानिटरिंगकी जाती है।
ऐसे समझे एक्यूआइ की स्थिति
एक्यूआइ स्थिति
0-50 अच्छी
51-100 संतोषजनक
101-200 थोड़ा प्रदूषित
201-300 खराब
301-400 बहुत खराब
401-500 गंभीर

Show More
मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned