गांव के इस छौरे ने एंड टीवी के वॉयस इंडिया किड्स में सबकी बोलती बंद कर दी

खंडवा के छोटे से गांव बीड़ में एंड टीवी की टीम पहुंची। धारकवाड़ी का आयुष रात 9 बजे टीवी पर अपनी गायकी का जलवा दिखाएगा। टॉप 20 में शामिल।

By: संजय दुबे

Published: 10 Nov 2017, 11:46 AM IST

खंडवा/बीड. हनुवंतिया मार्ग पर धारकवाड़ी गांव में 2004 में किसान परिवार के यहां जन्मा आयुष कलम एंड टीवी पर आने वाले कार्यक्रम वॉयस इंडिया किड्स पर नजर आएगा। शनिवार रात ९ बजे कार्यक्रम का प्रसारण किया जाएगा। वहीं, एंड टीवी की टीम भी गांव पहुंची है, जो गांव में रुककर कुछ महत्वपूर्ण दृश्यों की शूङ्क्षटग करेगी। आयुष की रुचि बचपन से ही संगीत में थी। चाचा के साथ मिलकर हारमोनियम बजाना सीखा। संत सिंगाजी महाराज के भजन गाकर ऐसी कृपा हुई कि उसकी आवाज में सरस्वती का वास हो गया। 11 वर्ष में सांस्कृतिक प्रेरणा मंच खंडवा में जिला स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेकर प्रथम स्थान प्राप्त किया। 13 वर्षीय आयुष 9 सितंबर को एंड टीवी पर आने वाले वॉयस किड्स प्रोग्राम के ऑडिशन के लिए नागपुर पहुंचा। यहां पर उसका चयन कर लिया गया। 16 अक्टूबर को ब्लाइंड ऑडिशन मुंबई में दिया।

टॉप २० में शामिल आयुष
अपनी आवाज से हिमेश रेशमिया और पलक मुच्छल को प्रभावित किया। बैटल ऑडिशन में भी कामयाबी पाई और टॉप 20 में शामिल हुआ। गुरुवार शाम को एंड टीवी की टीम गांव पहुंची। यहां परिवार और उसके खेत की भी शूटिंग की जाएगी। इसके बाद शनिवार को एंड टीवी पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम वॉयस इंडिया किड्स में गांव में फिल्माए गए दृश्यों के साथ आयुष अपने गीत की प्रस्तुति देगा। इसको लेकर गांव में उत्साह है।

जग घुमिया... गीत ने किया प्रभावित
ब्लाइंड ऑडिशन के समय जब मंच पर सारे जज बैठे हुए थे, तब आयुष के द्वारा गाया गया गाना, जग घुमिया तेरे जैसा ना कोई... को सुनकर हिमेश रेशमिया और पलक मुच्छल प्रभावित हुए। आयुष ने हिमेश रेशमिया को गुरु के रूप में चयन किया और उनकी टीम में शामिल हुआ। आयुष का कहना है कि आगे भी बेहतर प्रदर्शन करेंगे। लोगों को आशीर्वाद मिलता रहे।

नारियल चढ़ाकर जाता हूं ऑडिशन देने
आयुष कलम ने बताया जिस तरह किशोर कुमारजी ने खंडवा जिले का नाम देश में रोशन किया। इसी तरह मैं भी उनकी राह पर चलकर अपने गांव और जिले का नाम रोशन करूंगा। संत सिंगाजी महाराज को अपना गुरु माना है। जब भी कहीं ऑडिशन के लिए जाता हूं तो उनको पहले नारियल फोड़कर आगे जाता हूं।

संजय दुबे Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned