डॉक्टर्स सहित पूरा स्टॉफ था स्वास्थ्य केंद्र से नदारद, सभी का एक दिन का वेतन काटा

-दो डॉक्टर, 12 पेरामेडिकल स्टॉफ को शोकॉज नोटिस जारी
-औचक निरीक्षण के लिए पहुंचे सीएमएचओ ने की कार्रवाई

लापरवाही बरतने वाले तीन को नोटिस जारी

खंडवा. ग्रामीण क्षेत्रों की स्वास्थ्य सुविधाओं की हकीकत किसी से छुपी नहीं है। स्वास्थ्य सुविधाओं की हालात ये है कि तहसील स्तर पर ही डॉक्टर और स्टॉफ नहीं मिल रहा। शनिवार को औचक निरीक्षण के लिए पहुंचे सीएमएचओ को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में न तो डॉक्टर मिले, न मेडिकल स्टॉफ। मामला पंधाना के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और एनआरसी सेंटर का है। सीएमएचओ ने नाराजगी जताते हुए सभी का एक दिन का वेतन काटने का आदेश दिया। साथ ही शोकॉज नोटिस भी जारी किया। जिसका जवाब संबंधित को तीन दिन में देना होगा।
पंधाना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ड्यूटी टाइम में डॉक्टर्स और स्टॉफ की गैरमौजूदगी की लगातार शिकायतें मिल रही थी। पंधाना विधायक राम दांगोरे ने भी इस मामले में जिला प्रशासन से शिकायत की थी। जिसके बाद शनिवार सुबह 9 बजे सीएमएचओ डॉ. डीएस चौहान सामुदायिक केंद्र पंधाना पहुंचे। यहां ड्यूटी होने के बाद भी दोनों डॉक्टर, नर्स, फार्मासिस्ट, ड्रेसर, स्वास्थ्यकर्मी सहित पूरा 12 स्वास्थ्यकर्मियों का पेरामेडिकल स्टॉफ नदारद था। कुछ देर बाद सीएमएचओ के आने की सूचना पर ड्यूटी पर मौजूद सभी लोग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। यहां सीएमएचओ ने फटकार लगाते हुए चेतावनी दी कि भविष्य में समय पर न आने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई भी की जाएगी।
इनको मिला शोकॉज नोटिस
समय पर स्वास्थ्य केंद्र में उपस्थित नहीं होने पर सीएमएचओ ने डॉ. अनुराग सोनी, डॉ. संजय पाराशर, स्टॉफ नर्स सविता चौधरी, फार्मास्टि उर्मिला, नमिता, ड्रेसर एनआर सिनोदिया, एएनएम कुसुम यादव, आरबीएसके डॉ. किर्ती पटेल, सपोर्ट, लक्ष्मी सेंडे, स्टॉफ वर्षा खेड़े, एनआरसी पोषण प्रशिक्षक शांति खांडे, कुुक ज्योति सोनी, एएनएम बिंदू साधु शामिल है।
लापरवाही बरतने वाले तीन को नोटिस जारी
जिला अस्पताल मेडिकल कॉलेज में पिछले दिनों नए भवन के ब्लॉक ए में पानी भरने के मामले में अस्पताल प्रबंधन ने तीन कर्मचारियों को नोटिस जारी किए है। 4 दिसंबर को नए भवन के प्लास्टर रूम और आसपास की डॉक्टर्स ओपीडी में वॉल्व खुला रहने से पानी भर गया था। जिसके चलते सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक मरीज परेशान होते रहे थे। इस मामले में आरएमओ डॉ. शक्तिसिंह राठौड़ ने जिला अस्पताल के प्लंबर, गार्ड और प्लास्टर रूम के अटेंडर को नोटिस जारी किया है। जिसका जवाब 5 दिन में देना होगा।

मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned