पैसे कम पडऩे पर दवाई नहीं देने पर दवा दुकान कर्मी का अपहरण करने वाले पहुंचे जेल

रुपए कम होने पर मेडिकल से दवाइयां नहीं देने की बात पर किया था अपहरण

By: tarunendra chauhan

Published: 21 Nov 2020, 08:25 PM IST

खंडवा. छनेरा में दिनदहाड़े क्लीनिक कर्मचारी के अपहरण के दो आरोपियों को हरसूद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं अपहृत सुशील को सुरक्षित मुक्त कराया है। अपहृत सुशील पिता जगदीश प्रजापति (22) निवासी वार्ड नंबर 9 छनेरा ने वारदात की आपबीती बताते हुए कहा गुरुवार सुबह करीब 9 बजे रोजाना की तहत रश्मि मेडिकल पर पहुंचा। ताले खोलकर शटर उठा रहा था। तभी आरोपी टुनमुन उर्फ अरविंद अपने साथी बल्लू मीणा के साथ आया और मारपीट शुरू कर दी। जबरदस्ती बाइक पर बैठाया और साथ ले गए। उसने कहा चिल्लाए तो मार देंगे। रास्ते में चिल्लाने की कोशिश की तो आरोपी टुनमुन ने दांतों से कान काट लिया। वह छनेरा से मुझे बरुड़, रेवापुर, सिराली, रहटगांव, पलानी, छीपाबड़ के रास्तों पर लेकर दिनभर घूमते रहे। टिमरनी में नाश्ता किया। इसके बाद रात करीब 9 बजे छीपाबड़ पहुंचे और ढाबे पर खाना खाया। तभी पुलिस ढाबे पर आ गई। पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया।

कोर्ट में पेश कर आरोपियों को भेजा जेल
हरसूद पुलिस ने टूनमून उर्फ अरविंद्र पिता नारायण मीणा और साथी बल्लू मीणा निवासी बोरीसराय को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में अपहरण की वारदात का कारण सामने आया कि आरोपी टुनमुन कुछ दिन पहले रश्मि मेडिकल पर दवाइयां लेने गया था। दवाई ली, लेकिन बिल के रुपए कम पड़ गए। रुपए कम होने पर सुशील ने दवाई देने से मना कर दिया। इसी बात को लेकर आरोपियों ने अपहरण की वारदात की। मामले में शुक्रवार को पुलिस ने दोनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया। कोर्ट ने आरोपियों को जेल भेज दिया है। वहीं मामले में एक अन्य आरोपी फरार बताया जा रहा है।

Show More
tarunendra chauhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned