विरोध करती रहीं महिलाएं, चल गया निगम की जेसीबी का पंजा

-अतिक्रमण हटाने गए निगम अधिकारियों को करना पड़ा आक्रोश का सामना
-सीएम हेल्प लाइन की शिकायत के बाद नवचंड़ी क्षेत्र में तोड़ी पांच झोपडिय़ां
-महिलाओं ने लगाया आरोप, बिना नोटिस दिए किया बेघर, अब कहा जाएंगे

्रखंडवा.
सीएम हेल्प लाइन में लेवल फोर की शिकायत के बाद शुक्रवार को नगर निगम अमला नवचंडी मंदिर क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने पहुंचा। यहां नगर निगम अमले को अतिक्रमणकारी महिलाओं के आक्रोश का सामना करना पड़ा। भारी विरोध के बीच निगम की जेसीबी का पंजा आखिरकार यहां मौजूद पांच टपरियों पर चला। इस बीच अतिक्रमणकारी महिलाएं निगमकर्मियों को कोसती रही। महिलाओं ने आरोप लगाया कि बिना नोटिस दिए घर तोड़ दिए गए हैं, अब हम बच्चों को लेकर कहा जाएंगे।
मां नवचंडी मेला क्षेत्र के पास स्थित कावेरी नगर वासियों ने यहां हो रहे अतिक्रमण को लेकर जनसुनवाई, निगम और सीएम हेल्पलाइन में शिकायत की थी। क्षेत्रवासियों का कहना था कि राजू पिता सूरसिंह निवासी गोदीखुर्द तहसील भीकनगांव ने कॉलोनी के बगीचे, मेला क्षेत्र की जमीन और यहां बनी दो पानी की टंकियों के नीचे अतिक्रण कर लिया गया है। यहां राजू ने अपने रिश्तेदारों को भी बुलाकर अतिक्रमण कर लिया है। जिसकी बार-बार शिकायत करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही थी। लोगों ने सीएम हेल्पलाइन में शिकायत की थी, जो लेवल फोर तक पहुंच गई थी। उच्च अधिकारियों के निर्देश पर शुक्रवार को ननि एइ अंतरसिंह तंवर, वर्षा घिंघोड़े पुलिस बल और अतिक्रमण दस्ता, जेसीबी लेकर अतिक्रमण हटाने पहुंचे।
महिलाओं ने किया हंगामा
अतिक्रमण हटाने के लिए पहुंचे नगर निगम अधिकारियों और दस्ता कर्मचारियों को अतिक्रमणकारियों के विरोध का सामना भी करना पड़ा। अतिक्रमणकारी महिलाओं ने मकान तोडऩे से मना कर दिया। जिसके बाद अतिक्रमण दस्ते ने घरों में घुसकर सामान निकालने की बात कही तो महिलाएं जमकर विरोध करने लगी। महिलाओं का कहना था कि हमें दो दिन का समय दिया जाए। जबकि निगम अधिकारियों का कहना था पहले भी बोल चुके है, लेकिन अब तक अतिक्रमण नहीं हटाया, अब कार्रवाई होकर रहेगी। अधिकारियों के सख्त रवैये के बाद अतिक्रमणकारियों ने घर से सामान निकालना शुरू किया। घर खाली होने के बाद जेसीबी से यहां मौजूद पांच झोपडिय़ों को तोड़ा गया।
रात में शराबियों का अड्डा बन जाती थी झोपडिय़ां
क्षेत्रवासियों के अनुसार भीकनगांव निवासी व्यक्ति द्वारा अतिक्रमण के बाद कॉलोनी में दहशत भी फैलाई जा रही थी। उक्त अतिक्रमणकारी द्वारा अवैध शराब का धंधा भी झोपड़ी में किया जा रहा था। रात होते ही शराबियों का जमघट लग जाता था। जिसके कारण रात में शराबियों के बीच विवाद भी होता रहता था। जिससे कॉलोनी की शांति भंग हो रही थी और भविष्य में कोई बड़ी घटना भी होने की आशंका थी। वहीं, अतिक्रमणकारी का कहना था कि वो मंदिर में साफ-सफाई का काम करता है, शराब का धंधा नहीं। 20 साल से क्षेत्र में रह रहा हूं, उसके परिवार को पट्टा भी नहीं मिला है।
कॉलोनी की जमीन पर था अतिक्रमण
उक्त परिवार द्वारा कॉलोनी के बगीचे पर दो झोपड़ी, मेला ग्राउंड में एक झोपड़ी और दो पानी की टंकियों के नीचे झोपड़ी बना ली गई थी। कॉलोनी की जमीन पर अतिक्रमण की शिकायत के बाद उन्हें हटाया गया है। अतिक्रमण के लिए नोटिस नहीं दिए जाते, फिर भी हमने उन्हें वहां से हटने की चेतावनी दे दी थी। नहीं हटने पर कार्रवाई की है।
अंतरसिंह तंवर, एइ नगर निगम

Show More
मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned