विधायक निधि से बांटी थमर्ल स्क्रीनिंग गन निकली चायना की

एक तरफ कर रहे चीन का विरोध, दूसरी ओर बांट रहे चायना के उत्पाद
-राज्य सरकार द्वारा अधिकृत कंपनी ने मेड इन चायना छुपाने के लिए ऊपर से लगाया स्टीकर
-प्रदेशभर में हुई है खरीदी, खंडवा में 3 लाख रुपए के थर्मल स्केनर आए

खंडवा.
चीन द्वारा भारतीय सैनिकों पर हमले के बाद देशभर में चीन का विरोध हो रहा है। चायना के उत्पादों का बहिष्कार किया जा रहा है। यहां तक कि भाजपा पदाधिकारियों, जनप्रतिनिधियों द्वारा यूपीए सरकार के समय चीन को वाणिज्य कर में छूट दिए जाने को लेकर 11 साल पुराने मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का पुतला भी दहन किया गया। दूसरी ओर भाजपा के विधायक व प्रतिनिधि चायना से आए थर्मल स्क्रीनिंग नान कांटेक्ट थर्मामीटर बांटे जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग को कोरोना संबंधित उपकरणो की खरीदी के लिए एक कंपनी को अधिकृत किया गया है। ये कंपनी चायना के उत्पादों पर अपना लेबल लगाकर माल सप्लाय कर रही है।
कोरोना संदिग्ध मरीजों की जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा थर्मल स्क्रीनिंग गन का इस्तेमाल किया जा रहा है। साथ ही पिछले दिनों खंडवा विधायक द्वारा भी विभिन्न विभागों, पंचायतों और धार्मिक स्थलों पर स्क्रीनिंग के लिए ये गन दि गई है। ये नान कांटेक्ट थर्मामीटर गन पर ऊपर तो अंजना इंटरनेशनल इंड्रस्टीज दिल्ली का स्टिकर लगा हुआ है। इस स्टिकर के नीचे थर्मल गन के डिब्बे पर मेड इन चायना लिखा नजर आ रहा है। इस स्टिकर के ऊपर साइड भी चाइनिज भाषा में थर्मल गन की जानकारी लिखी हुई है। इस थर्मल गन की खरीदी के लिए राज्य शासन के स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक कंपनी को ठेका दिया हुआ है। प्रदेश भर में स्वास्थ्य विभाग की सारी खरीदी ऑन लाइन हो रही रही है। जिसमें ये अधिकृत कंपनी चायना के माल का वितरण कर रही है।
2900 रुपए का एक नान कांटेक्ट थर्मामीटर
राज्य शासन द्वारा अधिकृत कंपनी द्वारा स्वास्थ्य विभाग को भेजी जा रही ये थर्मल गन प्रति नग 2900 रुपए में बेची जा रही है। जबकि देश में कई भारतीय ब्रांड की थर्मल गन इससे कम कीमत में मिल रही है। सूत्रों के मुताबिक सरकार द्वारा टेंडर बुलाकर ही रेट के अनुसार खरीदी के लिए किसी कंपनी को अधिकृत किया जाता है। नेट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार कई भारतीय कंपनियों की थर्मल स्क्रीनिंग गन के रेट अंजना इंटरनेशन इंटडस्टीज की थर्मल गन से कम है।
सभी विधायक बांट रहे थर्मल गन
कोरोना संक्रमण काल में सभी विधायकों द्वारा विधायक निधि से थर्मल स्क्रीनिंग गन बांटी गई है। खंडवा विधायक देवेंद्र वर्मा द्वारा कुल 4 लाख रुपए की राशि विधायक निधि से थर्मल गन और पल्स ऑक्सीमीटर के लिए दी गई है। जिसमें से स्वास्थ्य विभाग द्वारा तीन लाख रुपए की खरीदी सिर्फ नॉट कांटेक्ट थर्मामीटर की हुई है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि हमारे द्वारा आर्डर दिया गया था। स्टेट आरसी से खरीदी होकर गन हमारे पास आई है। जो विभाग द्वारा विधायक को प्रदान की गई है।
स्वास्थ्य विभाग से मिली थर्मल गन
विधायक निधि से हम राशि दे देते हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा ये थर्मल गन हमें उपलब्ध कराई गई है, जिसे हमने बांटा है। मुझे नहीं पता कि ये थर्मल गन चायना की है। इस संबंघ में हम ऊपर बात करेंगे।
देवेंद्र वर्मा, विधायक खंडवा
स्टेट आरसी से होती खरीदी
थर्मल गन सप्लाय का कार्य राज्य सरकार द्वारा एक कंपनी को दिया गया है। इस कंपनी से स्टेट आरसी के माध्यम से खरीदी हुई है। हम तो सिर्फ माध्यम है। हमने आर्डर भेज दिया था, वहां से ये गन आई है। विधायक निधि के अलावा भी अन्य थर्मल गन संयुक्त संचालक स्वास्थ्य कार्यालय से भेजी गई है।
राजीव मालवीय, जिला फार्मासिस्ट, सीएमएचओ कार्यालय

मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned