अनाज मंडी में कपास से भरी ट्रॉली पलटी, बड़ा हादसा टला

कृषि उपज मंडी निर्माण कार्य के दौरान हुई घटना

खंडवा। मंडी परिसर में निर्माणधीन स्थल के पास कपास से भरी ट्रॉली पलट गई।
खंडवा. नई कृषि उपज मंडी में जमीन को सीमेंट क्रांकीट करने के लिए की गई खुदाई के पास सोमवार को कपास से भरी ट्रॉली पलट गई। घटना दोपहर 2.30 बजे की है।गनीमत रही घटना में किसी को कोई चोट नहीं आई। कृषि उपज मंडी में कपास और मक्का नीलामी टीनशेड के बीच में एक सप्ताह से सीसी निर्माण के लिए जेसीबी से खुदाई की गई। निर्माण स्थल पर मुरम के ढेर लगे हुए हैं, जिसके कारण कपास लेकर आने वाले किसानों को भारी मशक्कत करना पड़ रही है। पत्रिका ने 7 फरवरी को 'मंडी में नीलामी से पहले पत्थर जमाकर खुद रास्ता बना रहे किसानों शीर्षक से किसानों की समस्या को प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया था, जिसमें वाहनों के पलटने की आशंका जताई थी। इसके बाद भी मंडी प्रबंधन ने गंभीरता से नहीं लिया है।

कपास बेचने आने वाले किसान नीलामी में जल्दी नंबर आने के लिए जान जोखिम में डाल निर्माणधीन स्थल से वाहन निकाल टीनशेड के नीचे खड़े कर रहे हैं। ऊबड़-खाबड़ जगह होने से कपास से भरे वाहन का संतुलन बिगड़ रहा। सोमवार को भी कपास की ट्रॉली पटलने का कारण समतल जगह नहीं होना रहा। रास्ता बनाने पत्थर भी स्वयं जमा रहे किसान कपास के टीनशेड के नीचे वाहन ले जाने के लिए किसानों को पहले पत्थर जमाकर रास्ता बनाना पड़ रहा। फिर वाहन बंद कर किसानों को धक्का देकर टीनशेड में वाहन खड़े करना पड़ रहा। इसके बाद किसानों की उपज की नीलामी हो पा रही।

2.72 करोड़ रुपए से होगा
सीसी निर्माण नई मंडी परिसर के कपास और मक्का के टीनशेड के बीच में 14500 स्क्वेयर फीट जमीन का पक्का सीमेंट कांक्रीट (सीसी) का निर्माण 2.72 करोड़ रुपए की राशि से होगा, जो करीब छह माह में बनकर तैयार होगा। एक सप्ताह से खुदाई का कार्य चल रहा है। लेवल बनाने के बाद सीसी कार्य शुरू होगा।

जमीन के सीसी निर्माण के लिए जेसीबी से खुदाई की चल रही है। किसानों को वाहन न ले जाने के लिए रोका जाता है लेकिन किसान हमारी बातों को नजरअंदाज कर वाहन ले जा रहे है। -एचएस सोलंकी, मंडी प्रभारी, कृषि उपज मंडी खंडवा।

dharmendra diwan Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned