बारिश में बढ़ी कंटेंमेंट क्षेत्र में ड्यूटी करने वाले कर्मचारियों की परेशानी

-सिर छुपाने के लिए भी नहीं मिल रही जगह, टेंट में नहीं रुक रही बारिश
-कंटेंमेंट क्षेत्र छोडऩे पर मिलता नोटिस, होती है सीधी कार्रवाई

खंडवा.
कोरोना संक्रमित मरीजों के घर के आसपास बनाए कंटेंमेंट क्षेत्र में प्रतिबंधात्मक आदेश का पालन कराने और व्यवस्थाओं के लिए विभिन्न विभागों के कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। बारिश के मौसम में इन कंटेंमेंट क्षेत्र में ड्यूटी करने वाले कर्मचारियों की परेशानी बढ़ गई है। यहां लगे टेंट में बारिश से बचाव करना मुश्किल हो रहा है। वहीं, अन्य परेशानियां भी कर्मचारियों को झेलना पड़ रही है। कंटेंमेंट क्षेत्र छोडऩे पर प्रशासन नोटिस थमा रहा है।
कंटेंमेंट क्षेत्रों में 24 घंटे की ड्यूटी के लिए तीन शिफ्ट में कर्मचारियों की तैनाती की गई है। जिले में वर्तमान में 112 कंटेंमेंट एरिया बनाए गए हैं, जिनमें वन विभाग, राजस्व विभाग, शिक्षा विभाग सहित अन्य विभाग के कर्मचारियों को तैनात किया गया है। बारिश के मौसम में कंटेंमेंट क्षेत्र की ड्यूटी कर्मचारियों को भारी पड़ रही है। खासतौर पर महिला कर्मचारियों को ज्यादा परेशान होना पड़ रहा है। सुबह 8 से शाम 4 बजे तक की ड्यूटी में अधिकतर शिक्षिकाओं को कंटेंमेंट क्षेत्र में तैनात किया गया है। बारिश के दौरान यहां लगे दस बाय दस के टेंट में पानी से बचाव नहीं हो पा रहा है। ऐसे में महिला कर्मचारी पानी से बचाव के लिए शर्म के मारे किसी के यहां जा भी नहीं पाती है। आठ घंटे की ड्यूटी के दौरान महिला कर्मचारियों को अन्य परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है।
फिर चार कर्मचारियों को मिला नोटिस
कंटेंमेंट क्षेत्र में ड्यूटी से अनुपस्थित मिलने पर अब तक सौ से ज्यादा कर्मचारियों को प्रशासन द्वारा कार्रवाई का नोटिस जारी हो चुका है। कुछ पर तो कार्रवाई की गाज भी गिर चुकी है। सोमवार को फिर चार कर्मचारियों को प्रशासन द्वारा ड्यूटी पर मौजूद नहीं मिलने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। जिसमें ऋतु बजाज शिक्षिका, नफिसा पटेल शिक्षिका, घनश्याम कदम शिक्षक एवं दीपक वर्मा वनरक्षक शामिल है।
एक मरीज मिलने पर पूरी गली बंद
सिंधी कॉलोनी क्षेत्र की गली नंबर तीन में एक मरीज मिलने पर कंटेंमेंट क्षेत्र बनाया गया है। शहर के अन्य क्षेत्रों में तो पॉजिटिव मरीज के घर के आसपास के दो तीन घरों को कंटेंमेंट बनाया जा रहा है, लेकिन यहां गली का रोड ही दोनों ओर से बंद कर दिया गया है। जिसके चलते अन्य कॉलोनियों का रास्ता से रुक रहा है। साथ ही पॉजिटिव मरीज के घर से दूर रहने वाले लोग और दुकानें भी बंद होने से दुकानदारों की परेशानी हो गई है।

मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned