बदनसीब पिता: बेटे की सगाई से पहले ट्रेन में आई मौत,हाथ में थी सगाई की अंगुठी

मध्यप्रदेश खंडवा में महानगरी एक्सप्रेस में एक पिता की अटैक से मौत हो गई। बेटे की सगाई में शामिल होने जा रहा था। उसे क्या पता ये मौत का सफर होगा।

By: संजय दुबे

Updated: 10 Nov 2017, 02:52 PM IST

खंडवा. मध्यप्रदेश खंडवा में महानगरी एक्सप्रेस में एक पिता की अटैक से मौत हो गई। बेटे की सगाई में शामिल होने जा रहा था। उसे क्या पता ये मौत का सफर होगा। इसे बदनसीबी ही कहेंगे या फिर वक्त का फैर। पिता अपने बेटे के चेहरे पर सेहरा देखने से पहले ही चल बसा। अनूपपुर से जलगांव के लिए सवार हुआ था। लेकिन खंडवा के पास उसे हार्ट अटैक आया और उसने दम तौड़ दिया। वह बेटे की सगाई में शामिल होने से जा रहा था। इस मौत से पिता के सपने पूरे होने से पहले ही टूट गए।


गुरुवार को बेटे की सगाई में शामिल होने ट्रेन से जा रहे पिता की ट्रेन में हृदय घात से मौत हो गई। यात्रियों की सूचना पर जीआरपी ने शव ट्रेन से उतारा और जिला अस्पताल ले गए। जहां पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। जीआरपी को वृद्ध की जेब से एक सोने की अंगूठी मिलीए जिसे उसने बेटे की सगाई के लिए बनवाई थी।

पिता के हाथ में थी सगाई की अंगुठी
जीआरपी के मोहनलाल यादव ने बताया गुरुवार सुबह 10 बजे मुंबई की ओर जाने वाली महानगरी एक्सप्रेस से नारायण पिता सुद्धूराम शुक्ला 55 निवासी बरबसपुर जिला अनूपपुर मप्र का शव उतारा। ट्रेन जब खंडवा स्टेशन पर पहुंची तो जनरल कोच में बैठे एक यात्री के बताने पर स्टेशन मास्टर ने जीआरपी को सूचना दी। सूचना पर शव को उतारा और जिला अस्पताल ले जाकर पोस्टमार्टम कराया।

होटल व्यवसायी है एरनडोल में बेटा
अस्पताल में मृतक के बेटे रिंकेश ने बताया उसका जलगांव के पास एरनडोल गांव में होटल का व्यवसाय है। कुछ दिनों बाद उसकी सगाई होने वाली थी, जिसमें शामिल होने पिता को बरबसपुर से बुलाया था। रिंकेश ने बताया पिता उसकी सगाई के लिए अंगूठी भी ला रहे थे, जो जीआरपी ने उसे सौंप दी। खंडवा में समाजसेवियों ने शव को ताबूत में रखवाकर बेटे के साथ ट्रेन से अनूपपुर के लिए रवाना किया।

 

संजय दुबे Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned