खंडवा में पानी का संकट, ढाई लाख की आबादी परेशान

खंडवा शहर में ढाई लाख की आबादी के लिए पानी का संकट खड़ा हो गया है। यहां पेयजल आपूर्ति के लिए तैयार की गई नर्मदा जल योजना की पाइपलाइन फू टने के बीच संचालन और संधारण कर रही विश्वा कंपनी के सभी कर्मचारियों ने सोमवार सुबह से हड़ताल कर दी है। इससे शहर से 50 किलोमीटर दूर स्थित चारखेड़ा के वाटर ट्रीटमेंट प्लांट सहित शहर के सर्किट हाउस स्थित पंप हाउस के पंप बंद हो गए हैं। खंडव वासियों को पानी कब मिलेगा यह कर्मचारियों की हड़ताल खत्म होने पर ही निर्भर करेगा।खंडवा शहर में पेयजल आपूर्ति के लिए 106 करोड़ों रुपए से भी ज्यादा की नर्मदा जल योजना डिजाइन की गई है। शहर से 50 किलोमीटर दूर पाइप लाइन के माध्यम से पानी लाया जाता है। यह पाइपलाइन बार-बार फूट जाती हैए जिससे संकट बढ़ता है। रविवार को भी यह पाइपलाइन फूट गई। सुधार कार्य के बीच सोमवार सुबह विश्वा कंपनी के कर्मचारियों ने हड़ताल कर दी। इनकी मांग है कि बीते 5 वर्षों से वेतन में वृद्धि नहीं हुई है इसलिए 10 फीसदी वार्षिक के अनुसार 5 वर्षों का 50त्न वेतनवृद्धि की जाए, जो कर्मचारी नियमित नहीं हुए हैं, उन्हें नियमित किया जाए। प्रत्येक कर्मचारी के लिए सप्ताह में एक अवकाश की मांग भी की गई है। साथ ही कहा है कि कर्मचारियों को 18 तक 20 घंटे तक काम करना पड़ता है। 8 घंटे से अधिक कार्य नहीं लिया जाए। ऐसा होता है ओवरटाइम दिया जाए। वेतन भी हर माह की 5 तारीख को दे दिया जाए। बता दें कि मांगों के समर्थन में कर्मचारी 4 से 5 बार पहले आवेदन दे चुके हैंए लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई अब उन्होंने हड़ताल का कदम उठाया है।

By: riyaz sagar

Published: 01 Jul 2019, 09:27 PM IST

खंडवा शहर में ढाई लाख की आबादी के लिए पानी का संकट खड़ा हो गया है। यहां पेयजल आपूर्ति के लिए तैयार की गई नर्मदा जल योजना की पाइपलाइन फू टने के बीच संचालन और संधारण कर रही विश्वा कंपनी के सभी कर्मचारियों ने सोमवार सुबह से हड़ताल कर दी है। इससे शहर से 50 किलोमीटर दूर स्थित चारखेड़ा के वाटर ट्रीटमेंट प्लांट सहित शहर के सर्किट हाउस स्थित पंप हाउस के पंप बंद हो गए हैं। खंडव वासियों को पानी कब मिलेगा यह कर्मचारियों की हड़ताल खत्म होने पर ही निर्भर करेगा।खंडवा शहर में पेयजल आपूर्ति के लिए 106 करोड़ों रुपए से भी ज्यादा की नर्मदा जल योजना डिजाइन की गई है। शहर से 50 किलोमीटर दूर पाइप लाइन के माध्यम से पानी लाया जाता है। यह पाइपलाइन बार-बार फूट जाती हैए जिससे संकट बढ़ता है। रविवार को भी यह पाइपलाइन फूट गई। सुधार कार्य के बीच सोमवार सुबह विश्वा कंपनी के कर्मचारियों ने हड़ताल कर दी। इनकी मांग है कि बीते 5 वर्षों से वेतन में वृद्धि नहीं हुई है इसलिए 10 फीसदी वार्षिक के अनुसार 5 वर्षों का 50त्न वेतनवृद्धि की जाए, जो कर्मचारी नियमित नहीं हुए हैं, उन्हें नियमित किया जाए। प्रत्येक कर्मचारी के लिए सप्ताह में एक अवकाश की मांग भी की गई है। साथ ही कहा है कि कर्मचारियों को 18 तक 20 घंटे तक काम करना पड़ता है। 8 घंटे से अधिक कार्य नहीं लिया जाए। ऐसा होता है ओवरटाइम दिया जाए। वेतन भी हर माह की 5 तारीख को दे दिया जाए। बता दें कि मांगों के समर्थन में कर्मचारी 4 से 5 बार पहले आवेदन दे चुके हैंए लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई अब उन्होंने हड़ताल का कदम उठाया है।

riyaz sagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned