आयोध्या में राम मंदिर भूमिपूजन के लिए दादाजी धाम से धूनीमाई की भभूत पहुंची

बजरंग दल राष्ट्रीय संयोजक को भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल होने आया आमंत्रण, दादाजी मंदिर में किए दर्शन

खंडवा. अयोध्या में 5 अगस्त को श्रीराम मंदिर निर्माण का भूमिपूजन किया जाना है। कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बजरंग दल के राष्ट्रीय संजोयक सोहन सोलंकी को बतौर अतिथि आमंत्रण आया है। इसके चलते रविवार को दल के राष्ट्रीय संजोयक सोलंकी दादाजी मंदिर पहुंचे। यहां दादाजी धाम में दर्शन किए और धूनीमाई की भभूत ली। वह धूनीमाई की भभूत लेकर अयोध्या रवाना हुए है। इसके अलावा जिले के कार्यकर्ताओं ने उन्हें शहीद जननायक टंट्या भील की जन्मभूमि बड़ोदा अहीर की मिट्टी और संगमेश्वर महादेव का जल सौंपा, जो भूमिपूजन के लिए अयोध्या ले जाया गया। इस दौरान सोलंकी ने कहा श्रीराम मंदिर निर्माण के भूमिपूजन कार्यक्रम के लिए देश से करीब पांच हजार पवित्र स्थानों की माटी और जल 5 अगस्त को अयोध्या पहुंच रहा है। यह भूमिपूजन देश की एकाग्रता का प्रतीक है। इसमें सभी पंत, समाज और विचारधाराएं एकत्रित होंगी। उन्होंने बताया राममंदिर भूमिपूजन कार्यक्रम का लाइव प्रसारण अमेरिका सहित 112 देशों में किए जाने की तैयारी चल रही है। सोलंकी शाम 5 बजे ट्रेन से लखनऊ के लिए रवाना हुए। सोमवार को लखनऊ से अयोध्या रवाना होंगे। इस दौरान जिलाध्यक्ष नवनीत अग्रवाल, जिलामंत्री अनिमेष जोशी, विभाग संयोजक नागेश वालांजकर, उपाध्यक्ष राजेन्द्र पाल, जिला प्रचार प्रसार प्रमुख मनीष कुमार मलानी, मोहित मौर्य, पंकज टोपलानी आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।

कोरोना काल में भाइयों की कलाई पर सजेगी होममेड राखी
खंडवा. कोरोना काल में सावन मास की पूर्णिमा पर सोमवार को रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाएगा। हर साल राखी का त्योहार आते ही बाजार में रौनक आ जाती है, लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते एहतियात की वजह से लोग बाजार से राखी व मिठाइयां खरीदने से झिझक रहे हैं। इसी वजह से लोगों ने त्योहार का फीकापन दूर करने घरों में नए तरीके अपनाए हैं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए हरिगंज निवासी बाहेती परिवार की बहनों ने घर में ही अपने भाइयों की कलाई पर बांधने के लिए होममेड राखियां तैयार की है। वहीं मुंह मीठा कराने मिठाइयां बनाई हैं। वहीं भाइयों ने बहनों को देने के लिए ऑनलाइन शॉपिंग कर गिफ्ट खरीदे हैं। प्रियंका बाहेती बताती है कि बाजार जाने में कोरोना संक्रमण का डर है। इस कारण घर में आयुषी, मिस्टी, अंकिता बाहेती, नीलम सोनी बाहेती के साथ मिलकर राखियां और मिठाई तैयार की है। ताकि संक्रमण से बचा जा सके और त्योहार भी फीका न पड़े।

जितेंद्र तिवारी Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned