पर्यटन केंद्र हनुवंतिया पर खत्म हुआ जल महोत्सव

-पिछले वर्षों की तुलना में कम ही आए पर्यटक जल महोत्सव में
-शुभारंभ किया था सीएम ने, बाद में किसी ने नहीं ली सुध
-जल महोत्सव की समाप्ति के बाद भी लगे रहेंगे टेंट सिटी के काटेज

खंडवा. प्रदेश के पर्यटन केंद्र हनुवंतिया पर चौथा जल महोत्सव पर्यटन विभाग की अनदेखी की भेट चढ़ गया। कांग्रेस सरकार का ये पहला जल महोत्सव था, जिसमें पहले तीन जल महोत्सव की तुलना में सबसे कम पर्यटन दर्ज हुए है। जल महोत्सव के शुभारंभ पर सीएम सहित दो मंत्री यहां पहुंचे थे। इसके बाद न तो यहां कोई मंत्री पहुंचा, न कोई बड़ा अधिकारी। पर्यटन विभाग ने भी प्रचार-प्रसार पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया। जिसके चलते ये फ्लॉप जल महोत्सव साबित हुआ। रविवार को जल महोत्सव का समापन भी हो गया और किसी को पता तक नहीं चला।
अनौपचारिक रूप से चौथा जल महोत्सव 20 दिसंबर 2019 से आरंभ हुआ था। इसका विधिवत शुभारंभ 3 जनवरी को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किया था। इस दौरान जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट, पर्यटन मंत्री सुरेंद्रसिंह बघेल, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव सहित स्थानीय विधायक व बुरहानपुर और खरगोन विधायक भी कार्यक्रम में शामिल हुए थे। इसके बाद पर्यटन केंद्र पर न तो कोई मंत्री पहुंचा, न ही पर्यटन विभाग का कोई बड़ा अधिकारी। पर्यटन केंद्र ने इस बार सारी व्यवस्थाएं टेंट सिटी के हाथों सौंप दी और निश्चित हो गया। जिसके चलते व्यापक प्रचार-प्रसार न होने से यहां दिन ब दिन पर्यटकों की संख्या घटती गई।
मात्र 20 हजार पर्यटक हुए दर्ज
हनुवंतिया पर्यटन केंद्र पर जल महोत्सव की शुरुआत तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने की थी। यहां सबसे ज्याद पर्यटक दूसरे जल महोत्सव के दौरान पहुंचे थे। तब यहां 1.14 लाख पर्यटकों की आमद दर्ज की गई थी। चौथे जल महोत्सव के दौरान एक माह से अधिक समय में पर्यटन विभाग के टिकट प्रवेश के अनुसार महज 20 हजार लोग ही दर्ज हुए है। इसका एक मुख्य कारण इस बार पूरा आयोजन ठेके पर दिया जाना भी बताया जा रहा है। तीन जल महोत्सव के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम का स्टेज टेंट सिटी से बाहर था। जबकि चौथे जल महोत्सव में सांस्कृतिक स्टेज टेंट सिटी के अंदर बनाया गया, जो आम पर्यटकों की पहुंच से दूर हो गया।
विद्यार्थियों ने लिया जल गतिविधियों का आनंद
रविवार को छुट्टी के दिन बड़ी संख्या में विभिन्न स्थानों से आए स्कूल के विद्यार्थी अपने शिक्षकों के साथ पहुंचे। गुरुकुल पब्लिक स्कूल डेढ़तलाई, शासकीय माध्यमिक विद्यालय चिलचोर बैतूल, आधारशिला इंटरनेशनल स्कूल पिपलकोटा खातेगांव के विद्यार्थियों ने वॉटर गतिविधियों का आनंद लिया। यहां टेंट सिटी के बाहर बने ग्राउंड पर पैरामोटर सहित कु्रज की भी सवारी विद्यार्थियों व अन्य पर्यटकों ने की। यहां आई छात्रा प्रियंका सिंह, रंजना नाथू ने कहा बहुत अच्छी जगह हैं, इस जगह पर सरकार को ध्यान देना चाहिए, ताकि ज्यादा से ज्यादा पर्यटक यहां पहुंचे।

मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned