scriptWater level decreased by 10 meters in Indira Sagar Dam | इंदिरा सागर बांध में 10 मीटर घटा जलस्तर, बिजली उत्पादन पर संकट | Patrika News

इंदिरा सागर बांध में 10 मीटर घटा जलस्तर, बिजली उत्पादन पर संकट

बीते सीजन में बारिश के दौरान बांध में क्षमता से दो मीटर कम भरा था पानी, जून में समय से मानसून नहीं आया तो ठप हो सकता है बिजली उत्पादन

खंडवा

Published: April 22, 2022 04:01:53 pm

खंडवा. इंदिरा सागर बांध में जलस्तर घटने लगा है। सीजन में बांध भरने बाद से लेकर अब तक करीब 10 मीटर जलस्तर कम हो गया है। जलस्तर घटने की रफ्तार यही रही तो बिजली उत्पादन के भविष्य पर संकट है। जून में समय से मानसून नहीं आया तो इस पावर स्टेशन में बिजली उत्पादन ठप हो सकता है। बांध में जलस्तर घटने से टारबाइन क्रमांक एक बंद हो गई है। इसके अलावा दूसरी टरबाइन भी बंद करने की तैयारी है। अधिकारियों का दावा है कि एनुअल मेंटेनेंस के लिए टरबाइन बंद की गई है।
12 gates of Indira Sagar dam and 21 gates of Omkareshwar dam opened
12 gates of Indira Sagar dam and 21 gates of Omkareshwar dam opened
बांध की क्षमता 262.13 मीटर
इंदिरा सागर बांध की क्षमता 262.13 मीटर है। बारिश के दौरान जलस्तर क्षमता से 2.13 मीटर कम रहा। बारिश के दौरान 260 मीटर रेकार्ड दर्ज हुआ। 20 अप्रैल यानी बुधवार की स्थिति में इंदिरा बांध का जलस्तर घटकर 250.7 मीटर पहुंच गया है। इस औसत से बारिश से लेकर अब तक लगभग दस मीटर पानी कम हो गया। जलस्तर घटने की रफ्तार यही रही तो जून, जुलाई में उत्पादन ठप होने के कगार पर पहुंच जाएगा।
जलस्तर 243.22 मी. से नीचे आने पर बंद हो जाएगा उत्पादन
इंदिरा सागर बांध में जलस्तर तेजी से नीचे खिसक रहा है। पावर स्टेशन अधिकारियों ने बताया कि बांध में जलस्तर 243.22 मीटर जलस्तर तक बिजली उत्पादन होता है। बांध में इस पैरामीटर से नीचे आने पर बिजली उत्पादन प्रभावित हो सकता है।
मेंटेनेंस के लिए एक टाइबाइन बंद
इंदिरा सागर पावर स्टेशन में 8 टरबाइन हैं। अधिकारियों का दावा है कि 7 टरबाइन चल रहीं हैं। मेंटेनेंस के लिए एक टरबाइन नंबर एक बंद है। हर साल टरबाइन को मेंटेनेंस के लिए बंद किया जाता है।
प्रतिदिन घटती बढ़ती रहती है डिमांड
इंदिरा सागर पावर स्टेशन में बिजली उत्पादन डिमांड के आधार पर प्रतिदिन घटता बढ़ता है। सोमवार को 7 मिलियन यूनिट बिजली का उत्पादन हुआ। जबकि एक दिन पहले तीन मिलनियन यूनिट की बिजली की डिमांड रही। मशीनें लगातार चलती हैं। लेकिन, बिजली का उत्पादन प्रतिदिन प्रदेश में बिजली की डिमांड के आधार पर जनरेट की जाती है।
वर्जन...
बांध का जलस्तर बारिश के दौरान ही दो मीटर कम रहा। वर्तमान समय में उत्पादन के लिए पर्याप्त जलस्तर है। डिमांड के आधार पर प्रतिदिन बिजली उत्पादन हो रहा है। जलस्तर बढऩे का भविष्य आगामी मानसून पर निर्भर है।
एके सिंह, जनरल मैनेजर, इंदिरा सागर पावर स्टेशन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

IPL 2022 MI vs SRH Live Updates : रोमांचक मुकाबले में हैदराबाद ने मुंबई को 3 रनों से हरायामुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...जम्मू कश्मीर के बारामूला में आतंकवादियों ने शराब की दुकान पर फेंका ग्रेनेड,3 घायल, 1 की मौतमॉब लिंचिंग : भीड़ ने युवक को पुलिस के सामने पीट पीटकर मार डाला, दूसरी पत्नी से मिलने पहुंचा थादिल्ली के अशोक विहार के बैंक्वेट हॉल में लगी आग, 10 दमकल मौके पर मौजूदभारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगाकर्नाटक के राज्यपाल ने धर्मांतरण विरोधी विधेयक को दी मंजूरी, इस कानून को लागू करने वाला 9वां राज्य बनाSwayamvar Mika Di Vohti : सिंगर मीका का जोधपुर में हो रहा स्वयंवर, भाई दिलर मेहंदी व कॉमेडियन कपिल शर्मा सहित कई सितारे आए
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.