ठंड ने तोड़ा पांच साल का रिकॉर्ड, न्यूनतम पारा 6.4 डिग्री पर आया

2014 में 7 डिग्री पर पहुंच गया था पारा

खंडवा. शीत लहर के चलते पूरा जिला हांड कंपा देने वाली ठंड की चपेट में है। उत्तरी हवाओं के कारण दिन और रात के तापमान में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। 29 दिसंबर शनिवार को ठंड ने पिछले पांच सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। न्यूनतम पारा 6.04 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। इससे पहले वर्ष 2014 में न्यूनतम तापमान 7 डिग्री दर्ज किया गया था।
शनिवार सुबह से आसमान साफ रहे। सर्द हवाओं को सिलसिला जारी है। दोपहर में तेज धूप ने कुछ हद तक लोगों को ठंड से राहत दी। वहीं शाम ढलते ही ठिठुरन बढ़ी। ठिठुरन से बचने रात के समय लोग बाजार में निकलने से कतरा रहे हैं। वहीं चौक-चौराहों पर अलाव का सहारा ले ठंड से लोग बच रहे हैं। शनिवार को शहर का अधिकतम तापमान 24.1 डिग्री दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम पारा 6.04 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड दर्ज किया गया।

धूप तेज थी, लेकिन हवा के साथ उसकी गर्माहाट ज्यादा नहीं थी। शाम को जैसे ही सूरज डूबा वैसे ही शीतलहर ने शहर को अपनी गिरफ्त में ले लिया। रात होते-होते पूरे शहर में सन्नाटा पसर गया। लोगों ने घरों में अलाव जलाकर तापकर ठंड से मुकाबला किया। बच्चे और बुजुर्ग तो शाम को ही रजाई में घुस गए थे। शहर में चाय की दुकान पर सबसे ज्यादा भीड़ रही। रात को ट्रेन और बस से आने वाले यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।


पश्चिमी विक्षोभ का मौसम पर असर
मौसम जानकारों की मानें तो हालही में उत्तर भारत से एक पश्चिमी विक्षोभ पास हुआ है। इसके प्रभाव से पहाड़ी इलाकों के कुछ हिस्सों में बर्फबारी हुई थी। सिस्टम के गुजरने के बाद हवा का रुख उत्तरी हो गया। इसी कारण प्रदेश सहित निमाड़ में दिन और रात के तापमान में गिरावट का दौर जारी है। आगामी दो से तीन दिनों तक सर्दी के तेवर तीखे बने रहने के आसार है।
पांच साल का तापमान
वर्ष अधिकतम न्यूनतम
2018 24.1 6.4
2017 29.1 9.0
2016 29.2 11.1
2015 32.1 9.4
2014 24.5 7.0
2013 27.1 12.0
(नोट- तापमान डिग्री सेल्सियस में)

Show More
राहुल गंगवार Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned