परिवार में किसी को खोने का दु:ख क्या होता है, महिलाओं से पूछो

-गुर्जर समाज की महिलाओं ने रिंग रोड, बायपास के लिए किया 181 पर कॉल
-भाजपा जिलाध्यक्ष ने भी माना शहर के लिए जरूरी रिंग रोड, बायपास
-पत्रिका मुद्दा- बने रिंग रोड, बायपास

खंडवा.
परिवार में किसी को भी खोने का दु:ख क्या होता है, इसे महिलाओं से ज्यादा अच्छा कोई नहीं बता सकता। सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली क्षति, घायल परिजन को लेकर सबसे ज्यादा परेशानी घर की महिलाओं को उठाना पड़ती है। रिंग रोड और बायपास के अभाव में बीच शहर से गुजर रहे वाहन दुर्घटनाओं का सबब बन रहे है। इन दुर्घटनाओं को रोकने के लिए रिंग रोड और बायपास बहुत जरूरी है। ये बात रविवार को गुर्जर समाज की महिलाओं ने रिंग रोड और बायपास के समर्थन में कहते हुए 181 पर कॉल लगाया।
खंडवा की आवाज संस्था द्वारा शहर में रिंग रोड और बायपास की मांग को लेकर मुहिम चलाई जा रही है। विभिन्न समाजों, संस्थाओं, संगठनों से रिंग रोड, बायपास के लिए सीएम हेल्पलाइन पर कॉल लगवाई जा रही है। रविवार को गुर्जर समाज के मिलन मेले में खंडवा की आवाज संस्था सदस्यों ने पहुंचकर समाजजनों को अभियान की जानकारी दी। जिसके बाद गुर्जर समाज के वरिष्ठों, पुरुषों, महिलाओं ने 181 पर कॉल कर खंडवा शहर में रिंग रोड बनाने के लिए शिकायत दर्ज कराई। समाज अध्यक्ष राधेश्याम पटेल ने कहा रिंग रोड बायपास की मांग खंडवा शहर में कई सालों से उठाई जा रही है। रिंग रोड, बायपास के ना होने से आए दिन बड़े हादसे हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि रविवार को ही दो बड़े एक्सीडेंट हुए हैं, जिसमें एक में पुरुष गंभीर घायल है एवं दूसरे में कुछ महिलाएं घायल हुई हैं। जब तक रिंग रोड बायपास बनता नहीं ऐसे हादसे होते रहेंगे।
हम भी चाहते रिंग रोड, बायपास मिले
कार्यक्रम में उपस्थित भाजपा जिलाध्यक्ष सेवादास पटेल ने भी रिंग रोड, बायपास की मांग को समर्थन दिया। उन्होंने सभी आमजन से अपील की कि 181 पर कॉल करें और अपनी बात मुख्यमंत्री तक पहुंचाएं। जिलाध्यक्ष ने कहा हम भी चाहते हैं रिंग रोड, बायपास खंडवा को मिले। हमारी सरकार पूरे तरीके से रिंग रोड, बायपास बनाने के प्रयास में है। साथ ही इनरव्हील स्पार्कल क्लब की अध्यक्ष पिंकी राठौर ने भी रिंग रोड, बायपास की मांग को लेकर समर्थन दिया। इस दौरान खंडवा की आवाज से मुल्लू राठौर, कमल नागपाल, अरुण कुमार बाहेती, समीर राजूरकर, हेमंत मुंदड़ा, अंशुल सैनी, हर्षा ठाकुर सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।

Show More
मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned