सोयाबीन की फसल पर पीला मोजेक, तना छेदक का प्रकोप

फलियां दाना बनने से पहले पीली पड़कर सूख रही
-किसानों ने की सर्वे कर राहत राशि दिलाने की मांग, कल सौंपेंगे ज्ञापन

खंडवा.
रबी के सीजन में कोरोना के प्रकोप से परेशान किसानों ने जैसे तैसे उबरकर खरीफ की बोवनी की थी। सोयाबीन की फसल पर फलियों में दाना बनने का समय आया तो अब कीट, बीमारी का प्रकोप फसलों पर छा गया। जिलेभर में सोयाबीन की फसल पर पीला मोजेक, गर्डल बीट (तना छेदक इल्ली) का प्रकोप होने से फसल खराब हो गई है। फलियों में दाना बनने की जगह पीली पड़कर सूख रही है। किसानों ने प्रशासन ने सर्वे की मांग करते हुए राहत राशि दिलाने की माग की है।
जिलेभर में सोयाबीन फसल में तना छेदक मक्खी, पीला मोजेक और फफूंद लगने से 80 फीसदी फसल सूखने की कगार पर है। पिछले दिनों हुई लगातार बारिश के चलते किसान दवाई का छिड़काव भी नहीं कर पाए। ग्राम बडग़ांव गुर्जर, सेगवाल, टिगरिया, सिलोदा सहित आसपास के गांवों में फसल जड़ से सूखने लगी है। किसान धरम पटेल, जगदीश पटेल, मांगीलाल चौधरी, मुकेश करोड़ी, नंदलाल खाटरिया आदि ने बताया कि क्षेत्र में करीब 12 सौ एकड़ की सोयाबीन फसल पर कीटों का प्रकोप हुआ है। किसानों ने बताया कि तना छेदक इल्ली (गर्डल बीट) रातों रात पत्तों व तनों को चट कर रही हैं। पौधों में फलियां दाना बैठने से पहले ही पीली पड़कर सूख रही हैं। कई जगह तो फलियां पौधों से गिरने भी लगी हैं। कीटनाशक सहित सारे उपाय फसलों पर कर लिए, लेकिन फसलों को नुकसान होना बंद नहीं हुआ है। किसानों ने मांग की है कि कृषि विभाग जल्द से जल्द उनकी फसलों का सर्वे करे और प्रशासन से राहत दिलाएं।
किसान संघ कल देगा ज्ञापन
भारतीय किसान संघ जिला समन्वयक सुभाष पटेल ने बताया कि किसानों द्वारा बलराम जयंती उत्सव मनाया जा रहा है। भाकिसं 15 दिन तक गांव गांव जाकर बलराम जयंती उत्सव मनाएंगे। साथ ही किसानों कि जो फसलें बर्बाद हुई है उसको लेकर 27 अगस्त को कलेक्टर के नाम ज्ञापन देकर अवगत कराया जाएगा कि किसानों की खराब फसलों का तत्काल सर्वे कराया जाए एवं धारा 64 के तहत किसानों को राहत राशि दी जाए। जिला प्रशासन के द्वारा सर्वे को लेकर उचित निर्णय नहीं लिया जाता है तो आगामी समय में भारतीय किसान संघ के द्वारा तहसील स्तर पर धरना आंदोलन किया जाएगा।
200 गांवों में मनाया बलराम जयंती उत्सव
भारतीय किसान संघ के द्वारा जिले के लगभग 200 गांव में बलराम जयंती उत्सव मनाया गया। भगवान बलराम का पूजन करवाया गया एवं अपने घर पर ध्वज लगाकर बलराम जयंती उत्सव मनाई गई। ये उत्सव 15 दिन तक चलेगा। इसमें भारतीय किसान संघ के दायित्ववान कार्यकर्ताओं ने अपने निज गांव में भी बलराम जयंती उत्सव मनाया। जिसमें ग्राम बावडिय़ा काजी, सुरगांव जोशी, टिगरिया, सुरगांव, खार, खड़की, सेगवाल, लोनार, सतवाड़ा, भंडारिया गांव के कार्यकर्ताओं ने भी अपने निवास स्थान, ग्राम में बलराम जयंती उत्सव मनाया।

मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned