जिलाबदर आरोपी की बाइक डिवाइडर से टकराई, पीछे बैठे युवक की मौत

मांधाता थाना क्षेत्र के सीआइएसएफ कार्यालय के सामने ओंकारेश्वर की घटना

खंडवा. जिलाबदर अवधि में जिले में रह रहे आरोपी की बाइक डिवाइडर से टकराई। घटना में बाइक पर बैठे युवक की मौत हो गई। पुलिस के अनुसार 1 जनवरी को जिलाबदर आरोपी नरेन्द्र भीलाला निवासी ओंकारेश्वर बाइक (एमपी 10 एमवाय 9425) से ओंकारेश्वर की ओर जा रहा था। बाइक पर पीछे कैलाश बैठा था। आरोपी नरेन्द्र तेज रफ्तार में बाइक चलाते हुए जा रहा था। अपराह्न 3.40 बजे बाइक अनियंत्रित होकर सीआइएसएफ कार्यालय ओंकारेश्वर के सामने डिवाइडर से जा टकराई। दुर्घटना में कैलाश गंभीर घायल हुआ। उसे तुरंत राहगीरों ने अस्पताल पहुंचाया, जहां कैलाश की मौत हो गई। सूचना पर मांधाता पुलिस ने जांच शुरू की। जांच में सामने आया कि दुर्घटनाग्रस्त बाइक जिलाबदर आरोपी नरेन्द्र चला रहा था। जांच के आधार पर पुलिस ने आरोपी नरेन्द्र के खिलाफ जिलादंडाधिकारी के आदेश का उल्लंघन करने पर धारा 188 और दुर्घटना में गैरइरादतन हत्या धारा 304 (ए) के तहत प्रकरण दर्ज किया है। घटना के बाद से ही आरोपी फरार है। इसकी तलाश पुलिस कर रही है।

मारपीट के आरोपियों पर धारा बढ़ाने की मांग, पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप

खंडवा. मछली चोरी के आरोप में युवक का अपहरण कर मारपीट करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग को लेकर शनिवार को बंजारा समाज ने एएसपी प्रकाश परिहार को ज्ञापन सौंपा। इसमें बताया रामू नायक निवासी उंडेल का 31 दिसंबर की सुबह सिमरन फिशरीज कंपनी के कर्मचारियों ने कट्टा अड़ाकर अपहरण किया। रामू को कार में लेकर सेल्दा-मांडला के जंगल में पहुंचे। जहां उसके साथ डंडों से मारपीट की गई। वारदात का वीडियो भी वायरल हुआ है। वहीं वारदात का शिकार रामू जावर थाने पहुंचा तो मामले में सुनवाई नहीं हुई। पुलिस ने सामान्य धाराओं में मारपीट करने वालों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया। बंजारा समाज ने मारपीट के आरोपियों के खिलाफ अपहरण और आम्स एक्ट की धाराएं बढ़ाने और सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। इस पर एएसपी परिहार ने मामले की जांच कराकर संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस दौरान गोपाल नायक, बलराम नायक, राजेश नायक, विनोद नायक, कृष्णा, नीलेश राठौड़, महेंद्र सिंह, गंगाराम, रेवाराम सहित अन्य उपस्थित थे।

कंपनी के कर्मचारी कर रहे गुंडागर्दी
ज्ञापन सौंपने पहुंचे बंजारा समाजजन ने आरोप लगाते हुए कहा सिमरन फिशरीज कंपनी के कर्मचारी बैकवॉटर क्षेत्र में स्थित ग्रामों में गुंडागर्दी कर दहशत फैला रहे है। इससे ग्रामीण डरे हुए हैं। उन्होंने रामू के साथ हुई मारपीट की घटना की जांच में मेडिकल ऑफिसर और जावर पुलिस के कंपनी के कर्मचारियों से मिलीभगत होने का भी आरोप लगाया। इधर, प्रकरण में कार्रवाई करते हुए जावर पुलिस ने मारपीट के आरोपी गोलू, हैप्पी, सुमरेश सिंह सहित चार को गिरफ्तार किया है।

जितेंद्र तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned