Food poisoning - चटोरी चाट ने 46 को पहुंचा दिया अस्पताल

लॉकडाउन खुलने के बाद लगी चाट दुकानें, टूट पड़े लोग
जिला अस्पताल में 43 व निजी अस्पताल में 3 उल्टी-दस्त के मरीज भर्ती
कक्षा 12वीं की छात्रा की भी बिगड़ी तबीयत, मुश्किल से दी परीक्षा

By: tarunendra chauhan

Updated: 10 Jun 2020, 03:21 AM IST

खरगोन. समीपस्थ ग्राम नागझिरी में पानी-पताशे व चाट खाने से 40 अधिक लोग फूड पॉयजनिंग के शिकारी हो गए। बीमारों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां सभी मरीजों का इलाज चल रहा है, अभी स्थिति नियंत्रण में है। बीमार होने वालों में एक कक्षा 12 वीं की छात्रा भी शामिल है। मंगलवार को छात्रा नागझिरी परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देने पहुंची तो वहां उसकी तबीयत बिगड़ गई, तत्काल मेडिकल टीम को बुलाकर उसका इलाज कराया गया। इसके बाद उसने पर्चा हल किया।

जिला मुख्यालय से करीब 7 किमी दूर ग्राम नागझिरी, राजपुरा में उस समय भागमभाग जैसे हालात बन गए जब यहां बड़ी संख्या में लोग एक के बाद एक उल्टी-दस्त का शिकार होने लगे। देखते ही देखते उल्टी-दस्त से पीडि़त मरीजों की संख्या 46 तक पहुंच गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सभी उल्टी-दस्त पीडि़तों ने नागझिरी के बाजार में चाट, पानी-पताशे खाए थे, जिसके बाद एक-एक कर उल्टी-दस्त के मरीज सामने आते गए। जिला अस्पताल में मंगलवार रात 9 बजे तक 43 लोगों को भर्ती किया गया, जबकि 3 बच्चों का निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। सिविल सर्जन डॉ. राजेंद्र जोशी ने बताया अस्पताल में भर्ती सभी मरीजों का उपचार किया गया। सभी की स्थिति अभी नियंत्रण में है।

दगा दे गई चटोरी जबान
लॉकडाउन के दो माह तमाम बाजार बंद रहा। इस दौरान लोग घरों में कैद रहे और दाल-रोटी से ही काम चलाया, लेकिन पाबंदियां हटी तो बाजार में होटल, रेंस्टारेंट भी खुल गए। ग्रामीणों ने बताया बीते दो दिनों से यहां चाट दुकान पर कई लोग पहुंच रहे हैं। ऐसे में कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के नियमों का पालन भी नहीं हो रहा। ऐसी स्थिति में लोगों ने चाट खाया और फूड पायजनिंग का शिकार हो गए।

राजपुरा के यह मरीज अस्पताल में भर्ती
फूड पायजनिंग की शिकार राजपुरा की शिवानी, ओंकार, पूजा, प्रदीप, आरती , संतोषी, चंपालाल, आर्यन, नन्या, दिव्यांश , मयाराम, भगवती आदि हुए हैं। इसके अलावा नागझिरी के कुछ लोग भी इसकी चपेट में आए हैं। सभी की स्थिति नियंत्रण में है।

फूड पायजनिंग के शिकार 43 ग्रामीण हुए हैं। मंगलवार शाम तक इन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया। अभी सभी की हालत में सुधार है, इलाज चल रहा है।
-राजेंद्र जोशी, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल खरगोन

Show More
tarunendra chauhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned