तंबाकु चबाकर सड़क पर थुकने वालों से कराई सफाई, लगवाई उठक-बैठक

गुटका खाने वालों की शामत...
-गुटका खाने वालों ने कहा- हम सौगंध खाते हैं आज के बाद सार्वजनिक स्थानों पर गुटका नहीं खाएंगे, यहां-वहां थुककर नहीं फैलाएंगे गंदगी

By: Gopal Joshi

Published: 10 May 2020, 06:00 AM IST

खरगोन.
तंबाकु-पाऊच खाने वालों की शामत शनिवार को उस समय आई जब उन्होंने सार्वजनिक स्थानों पर तंबाकु थुक दी। इस करतूत को देखते ही नपा कर्मियों ने उन्हें गायत्री मंदिर चौराहें पर ही धरदबौचा और तगड़ी फटकार लगाई। इतना ही नहीं दंड स्वरूप चौराहें पर ही कान पकड़कर उठक-बैठक लगवाई और उन्होंने जिस जगह थुककर गंदगी की थी वह भी साफ कराई। हाथ में पानी की बाल्टी व झाडू देकर ऐसे लोगों से देर तक काम लिया गया। जब चालानी कार्रवाई की बारी आई तो नपा कर्मियों ने एक-एक हजार रुपए के चालान बनाने की तैयारी की। इतनी राशि जेब में न होने से थुकने वाले हाथ जोड़कर कर्मचारियों के सामने गिड़गिड़ाने लगे।
नपा के स्वास्थ्य अधिकारी प्रकाश चित्ते ने बताया कोरोना संक्रमण के चलते सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर थुकना प्रतिबंधित कर दिया है, क्योंकि तंबाकु का सेवन करना जानलेवा है जबकि जगह-जगह थुकना संक्रमण को बढ़ाता है, लिहाजा इस तरह की हरकत करने वालों पर चालान का प्रावधान किया गया है। शनिवार सुबह करीब 11 बजे गायत्री मंदिर तिराहे पर चार लोगों को तंबाकु-गुटखा खाकर सड़क पर थुकते पकड़ा। पहले तो सभी से उठक-बैठक लगवाई। इसके बाद उनके हाथों में पानी की बाल्टी झाडू थमा दी गई। जहां उन्होंने थुककर गंदगी की थी उस स्थान को साफ कराया गया।

तंबाकु खाने वालों से करवाया मौखिम करार
तंबाकु खाने वालों से नपा टीम ने मौखिक करार भी करवाया। इसमें उन्होंने कहा- हम सौगंध खाते हैं आगे से तंबाकु नहीं खाएंगे। सार्वजनिक स्थलों पर नहीं थुकेंगे। हालांकि थुकने वालों पर चालान के एक-एक हजार रुपए नहीं होने से नपा ने पांच-पांच सौ रुपए ही वसूले। शेष राशि के एवज में सफाई काम कराया गया।

आदेश एक हजार जुर्माना वसुलने का
सरकार ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि सार्वजनिक स्थानों पर थुकने वालों से एक हजार रुपए जुर्माना वसूला जाए, लेकिन नपा इस आदेश का सही ढंग से पालन नहीं कर रही। सार्वजनिक स्थानों पर थुकने वालों से कहीं २०० तो कहीं ५०० रुपए ही लिए जा रहे हैं। हालांकि अफसरों का कहना है कि जो व्यक्ति नियम तोड़ रहे हैं उनके पास जुर्माने के एक हजार नहीं होने से राशि कम ले रहे हैं।

प्रतिबंध के बाद भी जुगाड़ में बिक रही है तंबाकु, पाऊच
लॉकडाउन के चलते जिले में सभी पान दुकानें भी बंद है, लेकिन तंबाकु, पाऊच की जिसे लत है वे कहीं न कहीं से इसकी जुगाड़ कर ही लेते हैं। जानकारी के मुताबिक कई दुकान संचालक चोरी-छूपे तंबाकु, सुपारी बेच रहे हैं। कुछ जगह तो तंबाकु-गुटके व पाऊच की सप्लाय ग्रामीण क्षेत्रों से शहरों में हो रही है।

दस रुपए का गुटका 20 में
नाम न छापने की शर्त पर तंबाकु क शौकिन एक शख्स ने कहा- लॉकडाउन के पहले ते बाजार में गुटका दस रुपए में मिल जाता था लेकिन अब दुकानदार एक पुड़ी के २० रुपए वसूल रहे हैं। सुपारी के नाम एक हजार रुपए किलो तक पहुंच गए हैं। लेकिन इसके बाद भी तंबाकु के शौकिन अपना शौक पुरा करने से पीछे नहीं हट रहे।

सरकार ने लगाया प्रतिबंध, थुकने वालों पर एक हजार रुपए जुर्माना
अप्रैल में ही राज्य सरकार ने तंबाकु, गुटका पर प्रतिबंध लगाया है। साथ ही यह भी स्पष्ट किया है कि इसके बाद भी कोई तंबाकु खाकर सार्वजनिक स्थानों पर थुकता है तो एक हजार रुपए तक जुर्माना वसूला जाएगा। लेकिन इस नियम का पालन लोग नहीं कर रहे। पहले तो लॉकडाउन तोड़कर लोग घरों से बाहर आ रहे हैं और इसके बाद तंबाकु खाकर यहां-वहां थुकने से भी बाज नहीं आ रहे।

लॉकडाउन में खोली दुकान, प्रकरण दर्ज
खरगोन. लॉकडाउन के चलते १७ मई तक बाजार बंद के निर्देश कलेक्टर गोपालचंद्र डाड ने दिए हैं। लेकिन इसका उल्लंघन करते हुए शनिवार को पुराना हॉस्पिटल रोड थाने के सामने स्थित मधुश्री कलेक्शन दुकान खोली गई। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर, एसपी ने इस बात को ध्यान में रखते हुए तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए। थाना प्रभारी ललितसिंह डागूर ने बताया श्याम सुंदर हीरालाल महाजन (49) पर विभिन्न धाराओं के तहत कार्रवाई करते हुए प्रकरण दर्ज किया है।

Gopal Joshi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned