प्रशासन ने रात में हटाई अंबेडकर प्रतिमा, अनुयायियों ने दिया धरना

आक्रोश...बहुजन समाज पार्टी के बैनर तले दिया ज्ञापन, पुन: प्रतिमा स्थापन की मांग

By: हेमंत जाट

Published: 22 Feb 2021, 08:54 PM IST

खरगोन.
बस स्टैंड के बाहर सड़क के बीचोंबीच लगी बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को जिला प्रशासन ने रविवार-सोमवार की रात हटा दिया और इसे सब्जी मंडी स्थित बगीचे में शिफ्ट कर दिया। सोमवार सुबह प्रतिमा नहीं दिखी तो अनुयायी नाराज हो गए। दिनभर मामला गर्माया रहा। विवाद न हो इसलिए पुलिस फोर्स तैनात रहा। दोपहर में बहुजन समाज पार्टी के बैनर तले कार्यकर्ताओं ने प्रशासन की इस कार्रवाई का विरोध करते हुए कलेक्टोरेट जाकर ज्ञापन सौंपा। दरअसल, बस स्टैंड स्थित फव्वारा चौक पर प्रशासनिक अनुमति के बगैर करीब 5 माह पहले प्रतिमा लगाई दी थी। कलेक्टर अनुग्रहा पी. ने सफाई दी कि ट्रैफिक समस्या के चलते सड़क से प्रतिमा को हटाकर सब्जी मंडी में स्थानांतरित किया गया है। सोमवार सुबह प्रतिमा नदारत देख अनुयायियों ने नाराजगी जताई। प्रशासन पर द्ववेषतापूर्वक कार्रवाई का आरोप लगाते हुए पुन: प्रतिमा स्थापना की मांग की।

आक्रोश : सौंपा ज्ञापन, कार्रवाई को ठहराया गलत
भगवान बड़ोले, नरेंद्र कंचोले, संजय सोलंकी आदि ने कहा संविधान निर्माता एवं देश सहित विश्व के आदर्श बाबा साहेब अंबेडकर की प्रतिमा प्रशासन ने रातोंरात हटाकर उनके अनुयायियों की भावनाओं को ठेंस पहुंचाई है, जबकि उक्त स्थल पर प्रतिमा स्थापना की मांग लंबे समय से चली आ रही है। अक्टूबर 2020 में सामाजिक संगठनों ने प्रतिमा स्थापित की थी। यदि आपत्ति थी तो उसी समय हटानी चाहिए थी, ऐसे रातोंरात प्रतिमा हटाना गलत प्रक्रिया है।

प्रतिमा शिफ्ट की
-ट्रेफिक व्यवस्था को देखने के लिए प्रतिमा चौराहे से हटाकर बगीचे में शिफ्ट की है। रात में कार्रवाई इसलिए की ताकि यातायात बाधित न हो। रात में कोई वाहन भी नहीं चलते। सब्जी मंडी में जहां प्रतिमा स्थापित की है वहां सौंदर्यीकरण कराया जाएगा।
अनुग्रहा पी. कलेक्टर खरगोन

हेमंत जाट Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned