सांसद प्रतिनिधि कर रहा था सागवान की तस्करी

मुखबीर की सूचना पर वन विभाग ने पकडा, पहले रौब झाड़ा फिर घिघियाने लगा

By: हेमंत जाट

Published: 20 Jul 2018, 12:04 PM IST

बड़वाह/ काटकूट.
काटकूट वन परिक्षेत्र में सागवान लकडी की अवैध कटाई व तस्करी रोकने में वन विभाग नाकाम रहा हैं। राजनीतिक दलों से जुड़े नेताओं ने भी अपनी पहुंच के बल पर कीमती सागवान की लकड़ी की अवैध कटाई व इसकी तस्करी का धंधा शुरु कर दिया है। इस बात का खुलासा उस समय हुआ जब क्षेत्र के सांसद प्रतिनिधि ललित जाट निवासी काटकूट को वन विभाग की टीम ने बाइक पर अवैध रूप से सागवान की सिल्लियां ले जाते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया। पकडे जाने के बाद ललित पहले तो वन विभाग की टीम पर राजनैतिक धौंस व दबाव बनाने का प्रयास किया, लेकिन अधिकारियों ने जब इसकी एक नहीं सुनी व प्रकरण बनाने पर अड़ गए तो यह घिघियाने लगा। सिल्लियां जब्त कर विभागीय टीम जब उसे वन विभाग के कार्यालय लेकर जा रही थी, तभी आरोपित बाइक लेकर भाग निकला। बहरहाल वन विभाग की टीम ने प्रकरण दर्ज किया हैं। बताया जाता है कि उक्त सांसद प्रतिनिधि की कारगुजारियों पर वन विभाग की लंबे समय से नजर थी, लेकिन राजनीतिक रसूख के दम पर यह हमेशा विभाग की पकड़ में आने से बचता रहा। इसके बाद विभाग ने अपने मुखबीरों को सक्रिय किया व इसको रंगे हाथों पकडने में सफलता प्राप्त की। इस मामले के सामने आने के बाद भाजपा सहित सांसद ने भी आरोपित से किनारा कर लिया हैं। सांसद के निज सहायक का कहना था कि उक्त व्यक्ति को काटकूट क्षेत्र के भाजपा पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की शिकायत पर पहले ही सांसद प्रतिनिधि पद से हटा दिया गया है।

यह है मामला
बड़वाह वन मंडल के तहत काटकूट वन परिक्षेत्र आता है। सघन वन क्षेत्र होने से यहां लकड़ी की अवैध कटाई कर तस्करी करने वाले सदैव सक्रिय रहते हैं। मंगलवार रात वन विभाग की टीम को सूचना मिली कि ललित जाट बाइक पर सागवान की गोल सिल्लियां अवैध रूप से लेकर जा रहा है। सूचना मिलने के बाद विभागीय टीम ने मोर्चा संभाला व ललित का इंतजार करने लगीं। रात लगभग 12 बजे टीम ने घेराबंदी कर ललित जाट को बाइक सहित धरदबोचा। उसकी बाइक पर सागवान की दो सिल्लियां बंधी हुई थी। टीम ने पूछताछ की तो ललित अकडऩे लगा व अपने आपको सांसद नंदकुमारसिंह चौहान का प्रतिनिधि बताते हुए रौब झाडऩे लगा। वनकर्मी ललित को रेंजर कार्यालय काटकूट ला रहे थे कि रास्ते में ही यह विभाग के चौकीदार को धक्का देकर बाइक लेकर भाग गया। वन विभाग के डिप्टी रेंजर ने बताया कि जब्त सिल्लियां 0.123 घनमीटर होकर एक सिल्ली की कीमत 4414 रूपए आंकी गई हैं। दोनों सिल्लियों की कीमत 8828 रूपए आंकी गई है। आरोपित ललित व बाइक की तलाश की जा रही है। इस कार्रवाई में बीट प्रभारी विजय पाटीदार सहित चौकीदार शामिल थे।

तलाश कर रहे हैं-
वन विभाग की टीम ने ललित जाट को सागवान की गोल सिल्लियों के साथ पकड़ा था। कार्रवाई के दौरान यह बाइक लेकर भाग गया, जिसकी तलाश की जा रही है। अभी रेंजर कैलाश पुरोहित अवकाश पर हैं, उनके आने के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी।

जेपी डूडवाल, डिप्टी रेंजर काटकूट वन परिक्षेत्र

प्रतिनिधि पद से हटा दिया है-
ललित जाट की शिकायत मिली थी। इसके बाद सांसद ने इसको मौखिक रूप से हटाने की घोषणा की है। लिखित सूचना जारी नहीं की है, लेकिन कार्यमुक्त कर दिया हैं। इस संबंध में बड़वाह विधायक को भी बता दिया है।

दिलीप पाटील, निज सहायक, सांसद नंदकुमारसिंह चौहान

हेमंत जाट Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned