यहां नगरपालिका के अफसर दूसरों को दे रहे पानी बचाने की सीख खुद कर रहे दुरुपयोग

यहां नगरपालिका के अफसर दूसरों को दे रहे पानी बचाने की सीख खुद कर रहे दुरुपयोग
खरगोन. सुबह श्रीकृष्ण टॉकीज तिराहे पर फैले कीचड़ को पानी से धोने का प्रयास किया गया।

Gopal Joshi | Updated: 02 Aug 2019, 12:05:59 PM (IST) Khargone, Khargone, Madhya Pradesh, India

सुबह सड़क फैले कीचड़ साफ करने के लिए बहाया पानी, शाम को सहेजने का संकल्प दिलाया
-नगरपालिका टाउनहॉल में अक्षय जल संचय अभियान के तहत हुई बैठक, पानी को सहेजने के लिए अफसरों ने लिए शहरवासियों के सुझाव

खरगोन.
पानी को सहेजने के लिए नगरपालिका एक ओर तो कड़ी मशक्कत कर रही है लेकिन दूसरी ओर यहां पानी का दुरुपयोग भी हो रहा है। गुरुवार सुबह शहर के एमजी रोड स्थित श्रीकृष्ण टॉकीज तिराहे पर फैले कीचड़ को टैंकर के पानी से प्रेशर देकर धोया गया, वहीं शाम को नगरपालिका टाउनहॉल में शहरवासियों को बुलाकर यह सुझाव भी मांगे कि पानी को कैसे सहेजा जाए। पानी को बचाने की तरीके बताकर उसे व्यर्थ न बहाने का संकल्प लिया।
दो-तीन दिन से लगातार हो रही बारिश के बाद शहर की सड़कों पर कीचड़ फैल गया है। यहां से निकलना मुश्किल हो गया है। कीचड़ की समस्या से निजात पाने के लिए गुरुवार सुबह करीब ११ बजे नगरपालिका के टैंकर से श्रीकृष्ण टॉकीज तिराहे पर कीचड़ साफ किया गया। इसके बाद शाम करीब ४ बजे नगरपालिका टाउनहॉल में जल संचय अभियान के तहत बैठक हुई। इस बैठक में पानी का सदुपयोग हो, व्यर्थ पानी को बहने से कैसे रोका जाए इसके लिए लोगों को जागरूक कियागया। इस बैठक में सामाजिक संगठनों, विद्यार्थियों, शहर के प्रबुद्धजनों को बुलाया गया। पानी को कैसे सहेजा जाए इसे लेकर अफसरों ने शहरवासियों से सुझाव लिए। खुद की तकनीक भी बताई।

बैठक में इन बिंदुओं पर हुई चर्चा
बैठक में रिचार्ज पीठ विधि, ट्रेच विधि, रिचार्ज शॉफ्ट विधि छिद्र युक्त केसिंग पाइप विधि, वृत्ताकार नाली विधि द्वारा जलपुनर्भरण कैसे किया जाए इस पर मंथन हुआ। अफसरों ने इन बिंदुओं को विषयवार समझाया और लोगों को इसके प्रति प्रेरित किया।

यह काम करने के लिए संकल्प
-जल पुर्नउपयोग
-वर्षा जल का संवर्धन
-नदी, तालाब, कुआं, बावड़ी का जीर्णोद्धार
-पौधरोपण, स्वच्छ भारत अभियान।

...और इधर बारिश के बाद मिली राहत, लेकिन राह हो गई कठिन
तीन-चार दिन से हो रही बारिश ने गर्मी से राहत दी। किसानों के चेहरों पर खुशी फैला दी, लेकिन इस बारिश ने व्यवस्थाओं की पोल खोलकर भी रख दी है। उखड़ी सड़कों पर फैले कीचड़ में बीच चलना मुश्किल हो गया है। लोग जुझ रहे हैं।

समस्या वाली वह तस्वीरे जो परेशान करती हैं

केस-1
फिसलन से गिरे वाहन चालक
बीते एक सप्ताह से हो रही लगातार बारिश के बाद एमजी रोड बुरी तरह खराब हो गया है। यहां सीवरेज की खुदाई के बाद सड़क को एजेंसी ने ठीक से मरम्मत नहीं की। खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है। गुरुवार को भी लोग यहां कीचड़ से बनी फिसलन के कारण वाहनों सहित गिरते रहे।

केस-2
रास्ते पर रखा डस्टबीन, लोगों को सचेत किया
तिलकपथ पर कीचड़ की वजह से दुर्घटनाएं ज्यादा हो रही है। यहां कंपनी ने कोई संकेतक भी नहीं लगाया है। राहगीरों को कीचड़ से सचेत करने के लिए यहां व्यापारी प्रदीप दलाल, अनवर खान, गिरीश महाजन, विनोद गंगवाल आदि ने बीच रास्ते पर दूध के खाली कैरेट, डस्टबीन रख दिए हैं। जिससे वाहन चालक उस रास्ते से न गुजरे जहां फिसलन हो रही है।

केस-3
विष्णुपुरी कॉलोनी में जाने के लिए जद्दोजहद
खंडवा रोड पर विष्णुकॉलोनी वाला मुख्य रास्ता बारिश के बाद कीचड़ से भरा है। यहां रहवासियों को आने-जाने में परेशानी हो रही है। वाहन चालक तो फिसल ही रहे हैं यहां से स्कूल के लिए जाने वाले बच्चे भी गिर रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned