मुख्यमंत्री जी ! देखिए कैसे आप के नाम की योजना बन रही मजाक

मुख्यमंत्री जी ! देखिए कैसे आप के नाम की योजना बन रही मजाक

Hemant Jat | Publish: Feb, 15 2018 12:29:20 PM (IST) Khargone, Madhya Pradesh, India

-११६ करोड़ की योजना, ९० दिन में साढ़े छह किमी डाली लाइन
-ठेकेदार की सुस्ती पड़ रही भारी, खुदाई के बाद घरों के सामने लगा दिए मलबे के ढेर


खरगोन।
पानी की कमी से जूझ रहे डेढ़ लाख आबादी वाले शहर को पर्याप्त पानी देने के लिए ११६ करोड़ की योजना का खाका तैयार किया गया। जल आवर्धन योजना के तहत करीब ३ माह पहले १० नवंबर २०१७ को कार्य शुरू किया गया। लेकिन पाइप लाइन डालने का काम चिंटी की चाल से हो रहा है। यही कारण है कि बीते ९० दिनोंं में महज साढ़े छह किमी लाइन ही डाली जा सकी। शहरवासियों का कहना है इसी रफ्तार से काम चला तो करीब २४० किमी लंबी लाइन डालने में विलंब होगा। हालांकि नपा ने समय सीमा में काम पूरा होने का दावा किया है। उल्लेखनीय है कि यह काम मई २०१९ में पूरा होना है। इस लिहाज से नपा के पास अभी करीब १५ माह का समय है।


ठेकेदार की सुस्ती, जनता की परेशानी
इस योजना के तहत अब तक नपा कार्यालय से सनावद रोड स्थित हाउसिंग बोर्ड, श्रीकृष्ण टॉकीज से जवाहर नगर, इंदिरा नगर से कॉलेज तक, तालाब चौक से टवड़ीपुरा तक, बिस्टान नाके से ओंढल पुल के ऊपर तक और ओंढल पुलिया से वाटर वक्र्स तक की खुदाई होकर पाइप लाइन डाली जा चुकी है। ठेकेदार की सुस्ती का खामियाजा रहवासियों का भुगतना पड़ रहा है। रहवासियों का कहना है खुदाई के बाद पाइप भी डाल देते हैं लेकिन उसे जल्दी बराबर नहीं करते। इससे आवाजाही में परेशानी होती है।


इधर...खुदाई कर घरों के सामने लगा दिए मलबे के ढेर
पाइप लाइन खुदाई से लोगों को परेशान भी होना पड़ रहा है। श्रीजी कॉलोनी क्षेत्र में खुदाई के दौरान पुरी गली ही जाम हो गई। बीच मार्ग में नाली खोद दी और मलबा घरों के सामने ढेर हो गया। रहवासियों ने कहा यह स्थिति १५ दिनों से बनी है। न गैस वाहन आ रहा है न हम बाइक घर तक ला रहे हैं। यदि कोई बीमार हो जाए तो एंबुलेंस तक नहीं आ सकती। रहवासियों ने कहा- नाली करीब तीन फीट गहरी है। आवाजाही में परेशानी हो रही है। वाहन निकलना तो बंद ही हो गए हैं। सुनील भावसार, किरण महाजन ने बताया खुदाई के बाद पाइप भी डाल दिए लेकिन नाली पर मिट्टी नहीं डाली। इसके पहले मजदूरों ने टेलीफोन लाइन भी काट दी थी, तब भी परेशान होना पड़ा था। खुदी नाली करीब ५० फीट लंबी है। मलबा अब भी फैला है। रहवासियों ने बताया गहरी नाली खोद दी गई है। लेकिन समाधान के कोई प्रयास नहीं किए गए हैं। दिन में कई बार दुर्घटनाएं होती है। बच्चों को बाहर निकलने नहीं देते।


जेसीबी से की खुदाई, कंपन से परेशान लोग
शहर में खुदाई का यह आलम है कि दिन रात जेसीबी चल रही है। जिस इलाके में जेसीबी से खुदाई होती है वहां रात में कंपन होता है। घरों के अंदर रखे बर्तन हिलते हैं। महिलाओं ने कहा सब्जी लेने गए घर के सदस्यों का रास्ता देखते यह आशंका होती है कि कहीं सब्जी के झोले सहित किसी गडï्ढे में न पड़े हो। रहवासियों ने खुदाई की गई नालियों पर मिट्टी भरकर रास्ते समतल करने की मांग की है।
-फोटो केजी १५२२
खरगोन. श्रीजी कॉलोनी में खुदाई के बाद नाली खुली छोड़ दी। मलबा भी नहीं हटाया। रहवासी परेशान हो रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned