भाषण में सिर्फ उपलब्धियां ही गिनाते रहे सीएम

hemant jat

Publish: Apr, 18 2018 12:56:44 AM (IST)

Khargone, Madhya Pradesh, India
भाषण में सिर्फ उपलब्धियां ही गिनाते रहे सीएम

चार साल में हर गरीब का पक्का घर बनाकर देने की घोषणा, ७० हजार हितग्राहियों को बांटे पट्टे

खरगोन/ भीकनगांव. जिले के भीकनगांव में मंगलवार को गरीब और मजदूरों के कल्याण के लिए प्रदेश स्तरीय असंगठित श्रमिक कल्याण योजना का शुभारंभ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने किया। कार्यक्रम में कई जिलों से पंजीकृत मजदूर और हितग्राहियों को लाभ देने के लिए बुलाया गया था। कार्यक्रम दोपहर १२ बजे शुरू होना था, लेकिन मुख्यमंत्री करीब डेढ़ घंटे देरी से पहुंचे। मुख्यमंत्री ने करीब ५० मिनट तक भाषण दिया और राज्य सरकार की उपलब्धियां गिनाते रहे। उन्होंने कहा कि आज का दिन मप्र के गरीबों और मजदूरों के लिए स्वर्णिम दिन के रूप में लिखा जाएगा। समाज के कल्याण कई योजनाएं सरकार चला रही है। अब से गरीबों के दिन बदलेंगे। अब फसल काटने वाले, गिट्टी तोडऩे वाले और हम्माली करने वालों तथा ढाई एकड़ से कम जमीन वालों सभी गरीबों को मजबूर नहीं रहने दिया जाएगा। जिस तरह भगवान किसी के साथ भेदभाव नहीं करता। वैसे ही मप्र सरकार भी किसी के साथ बिना भेदभाव के योजनाओं से लाभांवित कर रही है।

चार साल में हर गरीब को पक्का मकान
मुख्यमंत्री ने घोषणा कि प्रदेश में गरीब और मजदूरों को चार साल में पक्के घर बनाकर देंगे। साथ ही एक लाख तीन हजार गरीबों को जमीन के पट्टे भी सरकार देगी। कार्यक्रम में ७० हजार पट्टे देने की बात कही गई। घर में नि:शुल्क बिजली कनेक्शन देेंगे। पुराने बिल बाकी है, तो उसे सरकार भरेगी। गरीबों के यहां हर महीने दो सौ रुपए से ज्यादा बिजली बिल नहीं आएगा। कांग्रेस पर तंज कसते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस गरीब-गरीब करती रही, लेकिन कभी गरीबों पर ध्यान नहीं दिया। भाजपा सरकार में गरीबों को एक रुपए किलो अनाज से लेकर खाने-पीने की सुविधा मिली। शिक्षा और इलाज के लिए भी सरकार मदद दे रही है।

कांग्रेस ने प्रदेश को बर्बाद किया
मुख्यमंत्री ने जनता को पुराने दिन याद दिलाते हुए कांग्रेस को आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि यहां आए लोग कांग्रेस के अंधेरे को याद करो। १५ साल पहले बिजली केवल अमीरों के घर जलती थी। लाइट बंद होने पर व्यापारी की दुकान में जनरेटर व इन्वर्टर होता था और गरीब के झोपड़ी में अंदर नजर आता था। १० साल कांग्रेस के मुख्यमंत्री रहे, जब उनसे कोई कुछ बोलता, तो खी-खी करते थे। सीएम ने कहा कि कांग्रेस ने प्रदेश को बर्बाद किया और हम उसे संवारने में लगे हैं।

स्वागत कराने नहीं, गरीबों से बात करने आया हूं
स्वागत करने वालों की लंबी कतार देखकर मुख्यमंत्री ने बीच में स्वागत कार्यक्रम को रोक दिया। उन्होंने माइक थामकर कहा कि स्वागत तो बाद में भी होता रहेगा, मैं आज यहां केवल गरीब और मजदूरों की बात करने आया हूं।

सीएम और नंदकुमार का ही उद्बोधन
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार चौहान ने सबसे पहले भाषण दिया और उसके बाद सीएम ने दिया। इसके अलावा किसी को बोलने का मौका नहीं मिला। जबकि मंच पर प्रभारी मंत्री विजय शाह, राज्यमंत्री बालकृष्ण पाटीदार, महेश्वर विधायक राजकुमार मेव, बड़वाह विधायक हितेंद्रसिंह, बाबूलाल महाजन सहित एक दर्जन से अधिक भाजपा नेता व अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने की घोषणाएं
-गर्भावस्था में गरीब महिलाओं को ६ से ९ वें माह के बीच ४ हजार रुपए पोषण आहर के लिए दिए जाएंगे।
-बेटा-बेटी के जन्म पर १२ हजार का अतिरिक्त भुगतान।एक महीने तक महिलाएं घर पर रहकर बच्चे की देखभाल कर सकेगी।
-बच्चों की पढ़ाई की पूरी फीस सरकार देगी।
-गरीब बहनों को व्यवसाय के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।
-श्रमिक की दुर्घटना में स्थाई अपंगता पर 2 लाख रूपए और अस्थाई अपंगता पर 1 लाख रूपए प्रदान किए जाएंगे।
-६० वर्ष से कम आयु के गरीब की सामान्य मृत्यु पर दो लाख रुपए प्रदान किए जाएंगे। वहीं दुर्घटना होने पर ४ लाख का भुगतान।
-अंतेष्टी सहायता योजना के तहत पंजीबद्ध मजदूर की मृत्यु होने पर अंतिम संस्कार के लिए तत्काल आर्थिक मदद 5 हजार रुपए प्रदान की जाएगी।

इनको किया लाभांवित
श्रमिक सम्मेलन में 70 हजार गरीबों को पट्टे वितरित किए। बड़वाह के दीपक की मृत्यु होने पर उनके उत्तराधिकारी किशनलाल को मृत्यु की दशा में अनुग्रह राशि 2 लाख रुपए प्रदान की गई। भीकनगांव की कलाबाई और ख्यालीबाई को प्रधानमंत्री उज्जवला योजनांतर्गत गैस कनेक्शन प्रदान किए गए। राजेश दिगंबर पटेल, साजिक सादिर खान, शेखर भास्कर व जिन्ना उमर शेख को इ-रिक्शा और इ-लोडर के लिए 1 लाख 70 हजार और 1 लाख 55 हजार रूपए का लाभ मुख्यमंत्री के हाथों दिया गया। सभी विकासखंडों के हितग्राहियों को भू-अधिकार पत्र प्रदान किए गए।

 

Ad Block is Banned