Video देखे पिता की मौत का बदला लेने बेटों ने मारी गोली, हमले में मामा-भांजे घायल

सनावद के पास ग्राम आलीबुजुर्ग की घटना, गांव के आम रास्ते पर चलाई गोली, फैली दशहत, एक आरोपी को पुलिस ने हिरासत में लिया, दूसरा फरार

By: हेमंत जाट

Published: 13 Nov 2020, 11:45 AM IST

सनावद (खरगोन).
नगर से करीब सात किमी दूर ग्राम आलीबुजुर्ग में शुक्रवार सुबह दो युवकों ने पुरानी रंजिश में मामा और भांजे को गोली मारकर घायल कर दिया। यह घटना गांव के आम रास्ते पर सुबह 9 बजे हुई। गोली चलने से गांव में दशहत मच गई। घटना के बाद आरोपी मौके से भाग निकले। सनावद टीआई ललितसिंह डांगुर ने बताया कि एक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गोली लगने से धर्मेंद्र पिता रुपसिंह (40)और गोवर्धन (28) निवासी आलीबुजुर्ग घायल हुए हैं। जिन्हें आनन-फानन में सनावद अस्पताल लाया गया। जहां से खरगोन रेफर किया गया। धर्मेंद्र मामा और गोवर्धन उसका भांजा है। घर में दीपावली बाद लड़की की शादी होने वाली थी। जिसकी पत्रिका बांटने के लिए सुबह दोनों घर से निकले थे। इस घटना के पीछे पुरानी रंजिश सामने आई है। पुलिस के अनुसार गोली मारने वालों की पहचान विनोद और अमर पिता सुखराम निवासी आलीबुजुर्ग के रूप में हुई है। दोनों आपस में सगे भाई है। आरोपियों ने अपने पिता की मौत का बदला लेने के लिए धर्मेंद्र और गोवर्धन पर जानलेवा हमला किया। पुलिस ने धर्मेंद्र को हिरासत में ले लिया है। वहीं गोवर्धन अभी फरार है।

9 साल से मन मेंं सुलग रही थी बदले की आग
आरोपियों ने यह हमला पिता की मौत का बदला लेने के लिए किया। ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार 2011 में विनोद और अमर के पिता सुखराम और धर्मेंद्र के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। धर्मेंद्र के धक्का देने पर सुखराम की मौत हो गई थी। पुलिस ने धर्मेंद्र सहित छह लोगों को आरोपी बनाते हुए हत्या का मामला दर्ज किया था। लॉक डाउन में धर्मेंद्र पेरोल पर जेल से छूटकर घर आ गया था। वहीं विनोद और अमर के मन में पिता की मौत का बदला लेने की आग सुलग रही थी। नौ साल इसी ंइंतजार में थे कि वह पिता की मौत का बदला कब लेंगे।

बाइक पर बैठकर आए और पास आकर चलाई गोली
धर्मेंद्र के यहां शादी होने पर वह भांजे के साथ सुबह पत्रिका बांटने निकला था। यह बात आरोपियों को पता थी। गांव के रास्ते (गोया) में सामने से ट्रैक्टर आ गए। जिसके चलते धर्मेंद्र को अपनी बाइक रोकना पड़ी। तभी बाइक पर बैठकर विनोद और अमर आए। दोनों के हाथ में देशी कट्टे थे। गोवर्धन ने उन्हें देख लिया और वह मामा से कहने लगा कि भागो। क्योंकि विनोद और अमर के हाथ में पिस्टल है। दोनों मार डालेंगे।

हेमंत जाट Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned