'शिवराजÓ ने तीसरी बार किया नर्मदा का वादा, 'अरुणÓ बोले- झूठा है तेरा वादा

खरगोन में २००८, २०१३ और अब २०१८ में फिर भाजपा ने छेड़ा नर्मदा का जुमला, कांग्रेस का पलटवार, कर्ज के बोझ तले दबी है राज्य सरकार

By: हेमंत जाट

Published: 24 Jul 2018, 01:24 PM IST

खरगोन.
जन आशीर्वाद यात्रा लेकर खरगोन पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान फिर से नर्मदा लाने का वादा कर गए। उन्होंने तीसरी बार यह बात खरगोन में कही। २००८ में विधानसभा चुनाव के लिए मुख्यमंत्री जब खरगोन आए थे, तो उन्होंने कपास मंडी में मंच से नर्मदा जल लाने की घोषणा की थी। दूसरी बार २०१३ में नवग्रह मेला मैदान और अब २०१८ में तीसरी बार शहरवासियों को नर्मदा का पानी देने का जुमला दिया। मुख्यमंत्री के द्वारा की गई इस घोषणा पर पूर्व पीसीसी चीफ अरुण यादव ने तंज कसा और कहा कि शिवराज की घोषणा चुनावी प्रलोभन है। वह जनता से सफेद झूठ बोल रहे हैं, उनका यह वादा कभी पूरा नहीं हो सकता। यादव ने कहा कि राज्य सरकार पर एक करोड़ ७२ लाख से अधिक का कर्ज है। जिससे सरकार कर्ज के बोझ तले दबी हुई। फिर भी मुख्यमंत्री घोषणाओं पर घोषणाएं किए जा रहे है। जनता इसे समझने लगी है। कर्ज से किसान रोजाना आत्महत्याएं कर रहा है। जिसके लिए मुख्यमंत्री और भाजपा सरकार जिम्मेदार है। यादव ने सीएम की यात्रा को लेकर कहा कि यह उनकी विदाई यात्रा है।

क्या बोले थे मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री ने अपने ३० मिनट के भाषण में कांग्रेस पर खूब तंज कसे। सीएम ने कहा कि कांग्रेस ने ६० साल में क्या किया, उसका हिसाब दें। १५ साल पहले राज्य में सड़क, बिजली की व्यवस्था कैसी थी, यह जनता को पता है। सड़क पर गड्ढे नहीं, बल्कि गड्ढों में सड़क होती थी। उन्होंने कहा कि मेरी पत्नी महाराष्ट्र की रहने वाली है, जो मुझे सड़कों को लेकर चिढ़ाती थी। महाराष्ट्र से बस में बैठकर एमपी में आते थे तो दचके लगने पर पता चल जाता था कि एमपी में आ गए। मुख्यमंत्री ने कमलनाथ, दिग्वियसिंह, सिंधिया का नाम लेते हुए कहा कांग्रेस के किसी नेता के पास इसका जवाब है, तो वह मुझे बताए। मुख्यमंत्री ने कांग्रेस पर आंतकवाद और अराजकता फैलाने का आरोप लगाया। मोदी सरकार ने पहली बार पाकिस्तान की सीमा में घुसकर आतंकियों को मारने की हिम्मत दिखाई, जो कांग्रेस कभी नहीं कर सकी। मुख्यमंत्री ने अमर शहीद राजेंद्र यादव को नमन किया।

५००० करोड़ की सिंचाई परियोजनाओं पर काम
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में सिंचाई परियोजनाओं के माध्यम से पैदावार बढ़ी है। अकेले निमाड़ में ५००० करोड़ की सिंचाई परियोजनाओं पर काम चल रहा है। हर किसान के खेत तक पानी पहुंचाना ही भाजपा का लक्ष्य है। देश के सभी राज्यों में १७३५ रुपए के समर्थन मूल्य पर गेहंू खरीदा गया। लेकिन मप्र में भाजपा सरकार ने किसानों से २००० रुपए का भाव देकर फसल खरीदी। ३३००० करोड़ रुपएकिसानों के खाते में डाले गए। यह काम शिवराजसिंह चौहान ही कर सकता है।

राहुल गांधी को बताया गली का नेता
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए उन्हें गली के नेता की संज्ञा दे डाली। चौहान ने कहा कि संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान राहुल गांधी ने अपनी हरकतों से साबित कर दिया कि उन्हें पप्पू क्यों कहा जाता है। संसद में उनका आचरण अमर्यादित था। राहुल गांाध्ी ने ऐसी हरकत कर डाली, जो गली का नेता भी नहीं करता। चौहान ने कांग्रेस ने ६० साल के शासन काल का हिसाब मांगा।

 

हेमंत जाट Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned