scriptGovernment help is 1.5 lakh, the cost of building a house has doubled | सरकारी मदद डेढ़ लाख, दोगुना हो गई मकान बनाने की लागत, मदद से दो कमरे भी नहीं हो रहे तैयार | Patrika News

सरकारी मदद डेढ़ लाख, दोगुना हो गई मकान बनाने की लागत, मदद से दो कमरे भी नहीं हो रहे तैयार

-आशीयाने का सपना हुआ महंगा, पीएम आवास के तहत वर्ष 2020-21 के 6251 प्रकरण लंबित, वर्ष 2019-20 के 1103 प्रकरण भी फाइलों में

खरगोन

Updated: February 21, 2022 10:01:22 am

खरगोन.
मकान बनाना अब और भी कठिन हो गया है। समय के साथ बिल्डिंग मटेरियल के दाम लगभग डबल हो गए हैं। ऐसे में कागजी जोड़तोड़ बिगड़ रहा है। लोहे के साथ सीमेंट, ईंट, रेत सहित अन्य रॉ मटेरियल के दाम तेजी से बढ़े हैं। ज्यादा समस्या पीएम आवास निर्माण में हो रही है। सरकार की गाइड लाइन के हिसाब से आवास निर्माण में सरकारी मदद डेढ लाख तक मिल रही है लेकिन यह राशि नींव डालकर प्लींथ तैयार करने में ही खर्च हो रही है। आलम यह है कि कई जगह निर्माण अधूरे पड़े हैं। हितग्राही बता रहे हैं कि इतनी मदद में दो कमरे तैयार करना भी मुश्किल है।
बिल्डर अमित जैन ने बताया पांच माह से एक साल के अंदर गिट्टी, रेत सरिया, सीमेंट सब के दाम बढ़े हैं। पहले बिल्डर मकान बनाने के लिए १००० स्क्वेयर फीट के रेट से काम करते थे अब रेट बढ़कर १४०० रुपए स्क्वेयर फीट हो गए हैं। जिले में काली रेत का ठेका निरस्त होने से इसकी भी किल्लत है। बाहरी जिलों जैसे होशंगाबाद, बैतुल नैमावर यहां तक की गुजरात से रेत मंगाई जा रही है। वाहन भाड़ा ज्यादा लग रहा है।
Government help is 1.5 lakh, the cost of building a house has doubled
खरगोन. निर्माण कार्यों में रेत की जगह एमसेंड का उपयोग किया जा रहा है।
ऐसे बढ़े दाम
मटेरियल अभी पहले
गिट्टी 1500 रुपए ट्रॉली 2200 रुपए ट्राली
रेत 3200 रुपए ट्रॉली 5000 रुपए ट्रॉली
सरिया 40 से 45 रुपए अभी 62 से 65 रुपए
सीमेंट 250 रुपए बोरी अभी 350 रुपए
बिल्डर रेट 1000 स्क्वे. फीट 1400 रुपए स्क्वेयर फीट
(जानकारी बिल्डर्स के अनुसार)
काली रेत की जगह एमसेंड का विकल्प
बिल्डर्स के मुताबिक अधिकांश निर्माण में काली रेत की जगह अभी एमसेंड (पत्थर से बनी रेत) का उपयोग हो रहा है। इसका उपयोग प्लींथ व जुड़ाई में हो रहा है। छत डालने में इसके साथ रेत ही मिलानी पड़ रही है। इसके रेट भी 3200 से ३५०० रुपए ट्रॉली है। 10 से 15 किमी दूरी तक ले जाने में यह रेट बढ़कर 5000 रुपए हो रहे हैं।
असर : पीएम आवास में बनने वाले मकान लंबित
जानकारी के अनुसार जिले में पीएम आवास के मकान भी बन रहे हैं, लेकिन बिल्डिंग मटेरियल के रेट बढऩे से कई जगह काम आधूरे हैं। हितग्राही मुकेश यादव,दिनेश बिर्ला, मोहन धनगर आदि ने बताया कि सरकारी मदद डेढ़ लाख रुपए की मिल रही है। ऐसे में जो रेट अभी सामग्री के हैं इसमें दो कमरे बनाना भी मुश्किल हो रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

संयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरबिहार में भीषण सड़क हादसा, पूर्णिया में ट्रक पलटने से 8 लोगों की मौतश्रीनगर पुलिस ने लश्कर के 2 आतंकवादियों को किया गिरफ्तार, भारी संख्या में हथियार बरामदGood News on Inflation: महंगाई पर चौकन्नी हुई मोदी सरकार, पहले बढ़ाई महंगाई, अब करेगी महंगाई से लड़ाईकोरोना वायरस का नहीं टला है खतरा, डेल्टा-ओमिक्रॉन के बाद अब दो नए सब वैरिएंट की दस्तक से बढ़ी चिंताWeather Update: देश के इन राज्यों में बदला मौसम, IMD ने जारी किया आंधी-बारिश का अलर्टManchester City ने Liverpool का तोड़ा सपना, छठी बार EPL का खिताब जीतकर रचा इतिहासप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टोक्यो पहुंचे, भारतीय प्रवासियों ने किया स्वागत, जापानी बच्चे के हिन्दी बोलने पर गदगद हुए PM
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.