जानिए कैसे प्लॉस्टिक की गठानें बनाकर नपा बढ़ाएगी आमदनी

-नपा ने अहमदाबाद से बुलाई दो आधुनिक मशीने, ट्रेचिंग ग्राउंड पर नपा अध्यक्ष ने किया शुभारंभ

By: हेमंत जाट

Published: 09 Dec 2017, 10:20 PM IST



खरगोन.
शहर में साफ-सफाई के साथ ही ठोस अपशिष्ट के निपटान के लिए नपा आधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसी क्रम में ट्रेचिंग ग्राउंड पर पॉलिथिन को अलग कर उससे प्लॉस्टिक की गठानें तैयार की जाएगी। इसके लिए नपा ने अहमदाबाद से दो मशीनें बुलाई है। नपा की यह प्रयास स्वच्छता सर्वेक्षण में सफलता के लिए मिल का पत्थर साबित हो सकता है। उल्लेखनीय है कि नपा ने दोनों मशीनें १३ लाख की लागत से खरीदी है। जिसमें पॉलिथिनयुक्त कचरे से प्लॉस्टिक की गठानें तैयार होगी। शुक्रवार को नपा अध्यक्ष विपिन गौर और सीएमओ निशिकांत शुक्ला द्वारा पूजा-अर्चना कर विधिवत शुभारंभ किया। इस मौके पर लोक-निर्माण समिति के सभापति राजेन्द्रसिंह पटेल, राजस्व एवं बाजार समिति के सभापति दीपक चौरे, पार्षद लक्ष्मण इंगले, नगरपालिका के सहायक यंत्री पीएस धार्वे, राजेश मिश्रा उपयंत्री, हरिनारायण पाटीदार, सरजू सांगले आदि मौजूद थे।
दो सालभर पहले शुरू हुई थी यूनिट
स्वच्छता प्रभारी प्रकाश चित्ते ने बताया कि शहर से प्रतिदिन निकलने वाले कचरे को इकट्ठा कर ट्रेचिंग ग्राउंड तक डंप करने के लिए नपा द्वारा २३ वाहन चलाए जा रहे हैं। इसमें गिला और सूखा कचरा अलग-अलग इकट्ठा कर ट्रेचिंग ग्राउंड तक लाया जाता है। दो साल पूर्व ही नपा ने कचरे से जैविक खाद बनाने की यूनिट शुरू की थी। इस उपलब्धी से नपा को गतवर्ष स्वच्छता सर्वेक्षण अभियान में फायदा भी हुआ। केंद्रीय दल ने यूनिट को बेहतर बताते हुए नपा के प्रयासों की सराहना की थी।
प्रतिदिन ४० टन कचरा
शहर में प्रतिदिन करीब ४० टन कचरा निकलता है। इसके कलेक्शन के लिए नपा द्वारा सभी ३३ वार्डों में डोर-टू-डोर गाडिय़ों चलाई जा रही है। इसमें कच्चे कचरे से यूनिट के माध्यम से जैविक खाद बनती है, लेकिन ठोस अपशिष्ट (पॉलिथिन) की वजह से ट्रेचिंग ग्राउंड पर कचरे के ढेर बढ़ता जा रहा है। हवा के साथ उडऩे वाले पॉलिथिन वातावरण को दूषित भी कर रही थी। वहीं अब आधुनिक मशीनों से पॉलिथिन की समस्या खत्म होगी। साथ ही इससे नपा की आमदनी भी होगी।
फैक्ट फाइल...
शहर में
३३ वार्ड
२३ कचरा गाडिय़ों
०२ डंपर
४० टन के लगभग रोज निकलता है कचरा
३५० सफाईकर्मी नपा के पास

हेमंत जाट Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned