अवैध से वैध कॉलोनी करने की प्रक्रिया शुरु, नपा ने कॉलोनाइजरों को दिया तीन दिन अल्टीमेटम

५० कॉलोनाइजरों की ली बैठक, जानकारी नहीं देने पर नपा करेगी कार्रवाई


खरगोन.
अवैध कॉलोनियों को वैध कर वहां मुलभूत सुविधाएं देने के लिए नगरपालिका ने काम शुरू कर दिया है। शुक्रवार को दोपहर करीब 1.30 बजे ५० से ज्यादा अवैध कॉलोनाइजरों की बैठक सीएमओ निशिकांत शुक्ला ने ली। इस बैठक में संचालकों से तीन दिन में कॉलोनी की पूरी अपडेट देने का अल्टीमेटम दिया गया है। जानकारी के आधार पर ही कलेक्टर अधिसूचना जारी करेंगे। इसके बाद वैध कॉलोनी का दर्जा देकर विकास कार्यों की शुरुआत की जाएगी।
सीएमओ ने बताया कॉलोनाइजरों से इसमें नर्धारित फार्मेट के आधार पर जानकारी मांगी है। फार्मेट में तहसील, अनुविभाग का नाम, कॉलोनी का नाम, कॉलोनाइजर का नाम, खसरा एवं रकबे की जानकारी, विचारण न्यायालय का प्रकरण एवं वर्ष, पारित अंतरिम आदेश की जानकारी सहित पालन प्रतिवेदन आदेश भी मांगा गया है। इसके लिए उन्हें तीन दिन का समय दिया है। समय पर जानकारी नहीं मिलती है तो संबंधित कॉलोनाइजर के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

६५ कॉलोनियां होगी वैध
शहर की करीब ६५ अवैध कॉलोनियों में सड़क, पानी और बिजली जैसी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए नपा ८० फीसदी राशि देगी। जबकि २० फीसदी राशि भूमि स्वामियों को देना होगी। यदि यह राशि देने में भी देरी हो रही है तो इसके लिए नपा के मार्फत लोन का भी प्रावधान है। बाद में नपा इसे किश्तों के जरिए भूमि स्वामियों से वसूलेगी। इसके बाद भी जहां लोग 20 फीसदी राशि देने में सक्षम नहीं वहां विधायक व सांसद अपनी निधि से राशि दे सकते हैं। इस राशि को जनसहयोग में शामिल किया जाएगा।

अवैध कॉलोनियों में होंगे यह काम
-मल निकासी, पेयजल लाइन व विद्युत व्यवस्था।
-जल आवर्धन व अमृत प्रोजेक्ट को जोड़ा जाएगा।

अवैध से वैध की प्रक्रिया में यह होगा सहयोग
लोन में मदद : किसी अवैध कॉलोनी में विकास कार्यों के लिए किसी कारणवश राशि एकत्र नहीं हो पाती है तो नपा उसके लिए शासन से 50 लाख से 1 करोड़ तक लोन भी ले सकती है।
आश्रय निधि : अवैध कॉलोनियों में विकास के लिए नपा व जिला प्रशासन नपा निधि के साथ आश्रय निधि का भी उपयोग कर सकते हैं।
सांसद-विधायक निधि : जहां लोग 20 फीसदी राशि देने में सक्षम नहीं वहां विधायक व सांसद अपनी निधि से राशि दे सकते हैं। इस राशि को जनसहयोग में शामिल किया जाएगा।

 

हेमंत जाट
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned