सीवरेज के गड्ढों से सड़कें हो रही छलनी

खंडवा रोड, बिस्टान नाका क्षेत्र में बीच सड़क खोद दिए गड्ढे, वाहन चालकों में हादसों की आशंका, परिषद की बैठक में पार्षदों ने जताई थी नाराजगी

खरगोन. शहर में जलावर्धन और उसके बाद सीवरेज लाइन की खुदाई से सड़कों की सुरत बिगड़ गईहैं। मुख्य मार्गों पर बार-बार खुदाई से सड़कें पूरी तरह छलनी हो गई। जिसके चलते अब दिनभर धूल और गड्ढों के कारण वाहन चालक परेशान हो रहे हैं।कॉलोनियों के अंदर भी सड़कें खुदी पड़ी हैं। यहां धूल से लोग में एलर्जी की समस्या बढ़ गई हैं। फिलहाल खंडवा रोड और बिस्टान रोडपर निर्माणकर्ताकंपनी व ठेकेदार द्वारा १० से १५ फीट के गड्ढे बीच सड़क खोदकर छोड़ दिए हैं।जहां पूरे समय हादसों का अंदेशा लगा रहता है।बावजूद इसे देखने वाला कोईनहीं है।ठेकेदार की मनमानी को लेकर आमजन में आक्रोश बढ़ रहा हैं।इस संबंध में पार्षद भी विरोध दर्ज करा चुके हैं। लेकिन न तो नपा अधिकारियों को इससे कोईफर्क पड़ रहा और ना ही निर्माणकर्ता कंपनी को।पिछले करीब एक साल से शहर में दोनों प्रोजेक्ट के लिए काम हो रहा हैं। इनमें शासन की तय शर्तों के अनुसार पाइप डालने के साथ खुदाई वाले स्थान पर सड़क को डामर और सीमेंट से समतल करना चाहिए।लेकिन इन नियम पर पूरी तरह से अमल नहीं किया जा रहा।
डायवर्सन रोड की हालत खस्ता
शहर में डायवर्सन रोड की गिनती व्यस्तत मार्ग में होती हैं।यहां से दिनभर में हजारों वाहन गुजरते हैं। नपा द्वारा मार्ग के चौड़ीकरण के साथ दोनों छोर पर पैवर्स और लोहे के पाइप की रेलिंग लगाकर इसे सुंदर बनाया गया था।लेकिन बीते एक साल में कभी केबल डालने तो कभी नाला निर्माण व अब पाइप डालने के लिए रोड किनारे खुदाई की जा रही है।सर्किट हाउस से मांगरुल रोड तक चार से पांच मर्तबा रोड की खुदाई हो चुकी हैं। जिससे अब व्यापारी भी त्रस्त हो गए हैं।जिन्हें धूल के कारण अब परेशानी की आदत सी हो गई।
अस्थमा और एलर्जी के बढ़े मरीज
सड़कों की खुदाई के साथ धूल की समस्या बढऩे से आस्थमा और एलर्जी के मरीज बढ़ गए हैं। जिला अस्पताल में ऐसे मरीजों की तादात बढ़ गईहैं।प्रतिदिन सौ से डेढ़ सौ मरीज पहुंंच रहे हैं।डॉक्टरों की मानें तो हवा के साथ धूल के बारीक कण सांस के साथ श्वास नली और फेफड़ों तक पहुंच रहे हैं। जिजसे सर्दी-खांसी और अस्थमा की समस्या होती हैं।

पार्षदों ने जताईथी नाराजगी
सड़कों की खुदाई और उससे होने वाली परेशानी को लेकर पार्षदों ने भी खुलकर नाराजगी जताईथी।नपा की विशेष सम्मेलन में कांग्रेसी पार्षद अलताफ आजाद, अयाज अली और विक्की पुलोरिया ने नपा अध्यक्ष सहित अधिकारियों को आमजन की परेशानी से अवगत कराते हुए कहा था कि सड़कों की खुदाई के बाद उसकी मरम्मत नहीं की जा रही हैं।मुख्य मार्गों के साथ ही अंदुरुनी सड़कों की खुदाईकर छोड़ दिया हैं।
फैक्ट फाइल...
-३३ वार्ड शहर में
-२०० किमी में डाली जाना है जलार्वधन योजना की लाइन
-१४६ किमी है सीवरेज लाइन का प्रोजेक्ट
-६५ प्रतिशत काम का दावा
-०५ महीने और चलेगा काम
कुछ क्षेत्रों में परेशानी
सीवरेज लाइन का कार्यअधिकांश क्षेत्रों में हो चुका हैं। यह सही है कि कुछ क्षेत्रों में सड़कों को रिपेयर नहीं किया गया।ठेकेदार को बोलकर सड़क को ठीक कराया जाएगा।
कमल पटेल, उपयंत्री नपा

हेमंत जाट Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned