एसडीएम बोले- सभी को मानो संक्रमित, दिलाओ तीन शपथ, एक मास्क लगाओ, दो सोशल डिस्टेंस रखो, तीन बेवजह घर से न निकलो

लॉकडाउन खुलने के बाद की तैयारी...
-सीएमएचओ कार्यालय में देर शाम हुआ मास्टर ट्रेनरों का प्रशिक्षण, लॉकडाउन खुलने के बाद जनता क्या करें, क्या न करें इस पर मंथन

By: Gopal Joshi

Published: 10 May 2020, 06:00 AM IST

खरगोन.
लॉकडाउन खुलने के बाद लोग सुरक्षित कैसे रहें, महामारी से कैसे बचे इसके लिए शनिवार देर शाम सीएमएचओ कार्यालय में मास्ट्रर टे्रनरों की क्लास लगी। एसडीएम अभिषेक गेहलोत ने कहा- हमारा मकसद एक ही है कि लॉकडाउन खुलने के बाद महामारी पर नकेल कंसी जाए। ऐसे में हमें हर शख्स को यह बताना होगा कि वह अपने आप को संक्रमित ही माने और नियमों का पालन करें। महामारी से बचना है तो तीन शपथ लेनी होगी। एक मॉस्क लगाएं, दो सोशल डिस्टेंस रखें, हाथ धोते रहे और बेवहज घरों से बाहर न आएं।
एसडीएम ने कहा- जागरूकता का यह काम १७ मई तक पूरा करना है। टे्रनिंग लेने के बाद गांव-शहरों में जाकर लोगों को सजग करना है। उन्हें बताना है कि अपनी सुरक्षा के लिए लोग खुद जागरूक बनें। एसडीएम ने कहा- जनता को इतना आत्मनिर्भर बनाया जाए तक वे खुद तय करें कि लॉकडाउन के बाद अपनी दिनचर्या कैसे रखें कि इस महामारी से बचा जा सके।

बचने की डालनी होगी आदत, इसलिए खुद को मानें संक्रमित
एसडीएम ने कहा- इस अभियान में खासकर धूम्रपान करने वालों के लिए मापंदड तय करना होंगे। उन्हें समझाना होगा कि यहां वहां धूंआ उड़ाना और तंबाकु खाकर सार्वजनिक स्थानों पर थुकना सीधे तौर पर संक्रमण को न्योता देना है। एसडीएम ने इस बात पर भी जोर दिया कि किसी व्यक्ति को कोरोना के क्षण दिखाई देते हैं और किसी में नहीं। इस बात का ध्यान रखते हुए खुद को सुरक्षित रखें और दूरी बनाएं रखें।

मास्टर ट्रेनरों से कहा- लोगों को इन बातों का सीखाना होगा पाठ
-महामारी का टीका नहीं। इतना इलाज है मॉस्क लगाएं, दूरी बनाएं, हाथ धोते रहे।
-किसी का भी झूठा खाना न खाएं और न खाने दें।
-५० वर्ष से अधिक उम्र वाले व्यक्ति विशेष ध्यान रखें।
-सर्दी, खांसी, बुखार आने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। छूपाएं नहीं।
फोटो केजी खरगोन.

Gopal Joshi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned