scriptPujari did not allow dalit girl to enter into the temple for worship | गिड़गिड़ाती रही लड़की फिर भी पूजा करने मंदिर में नहीं घुसने दिया, देखें वीडियो | Patrika News

गिड़गिड़ाती रही लड़की फिर भी पूजा करने मंदिर में नहीं घुसने दिया, देखें वीडियो

महाशिवरात्रि पर शिव मंदिर में पूजा करने पहुंची थी दलित युवती...वीडियो वायरल होने के बाद मचा बवाल....

खरगोन

Published: March 04, 2022 06:07:26 pm

खरगोन. मध्यप्रदेश के खरगोन में एक दलित युवती को मंदिर में पूजा किए जाने से रोकने की घटना के बाद माहौल गर्माया हुआ है। युवती को मंदिर में घुसने से रोकने का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जो कि महाशिवरात्रि के दिन का है। घटना टेमला गांव की है जहां महाशिवरात्रि पर दलित युवती भगवान शिव का पूजन करने के लिए मंदिर पहुंची थी लेकिन मंदिर के पुजारी ने उसे मंदिर में नहीं घुसने दिया। युवती गिड़गिड़ाती रही लेकिन फिर भी उसे मंदिर में एंट्री नहीं दी गई।

khargone.jpg

संविधान की दुहाई दी फिर भी नहीं मिली एंट्री
जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है उसमें पीली ड्रेस में दलित युवती है जो कि महाशिवरात्रि पर मंदिर में पूजा करने के लिए पहुंची थी। युवती जैसे ही मंदिर में पहुंची तो मंदिर के पुजारी ने उसे बाहर ही रोक दिया। पुजारी का साथ दो महिलाओं ने भी दिया जो वीडियो में युवती को मंदिर में जाने से रोकती नजर आ रही हैं। इस दौरान युवती ने संविधान की दुहाई दी..पुलिस को बुलाने का भी कहा लेकिन पुजारी ने उसकी एक भी बात नहीं सुनी। इसी दौरान किसी ने अपने मोबाइल से इस घटना का वीडियो बना लिया और बाद में सोशल मीडिया पर डाल दिया जो तेजी से वायरल हो रहा है।

यह भी पढ़ें

रोड पर रेंगता मिला एक करोड़ का सांप, जानिए क्यों है इतना खास




दलित समाज ने की कार्रवाई की मांग
घटना को वीडियो वायरल होने के बाद पीड़िता सहित समाजजनों ने मेनगांव थाने पर शिकायत दर्ज कराई। मामले में तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। लेकिन अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई। वहीं गुरुवार को खरगोन पहुंचे समाजजनों ने एसपी कार्यालय में धरना देकर नारेबाजी की और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की। एसपी सिद्धार्थ चौधरी के समक्ष शिकायत करते हुए समाजजनों ने आरोप लगाया कि जिले के कई गांवों में दलित समाजजन के लोगों के साथ इसी तरह का दुव्र्यवहार किया जा रहा है, जो कि उचित नहीं है। भारतीय संविधान में सभी को बराबरी का अधिकार है। मंदिर में पूजा-अर्चना के लिए सभी वर्ग के लोग कर सकते हैं। टेमला जो पूर्व राज्यमंत्री बालकृष्ण पाटीदार का गांव है और यहां अब भी दलित को छूने से मनाही है। वही इस पूरे घटनाक्रम को लेकर राज्य मानव अधिकार आयोग ने भी संज्ञान लिया है। आयोग अध्यक्ष न्यायमूर्ति नरेन्द्र कुमार जैन ने इस संबंध में खरगोन एसपी को नोटिस जारी कर महीनेभर में जवाब देने की बात कही है।

देखें वीडियो-

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.