महामारी ने इसी मचाई तबाही कि बच्चों के सिर से उठ गया माता-पिता का साया

-किसी ने खोई मां, किसी ने पिता को खोया

By: Gopal Joshi

Published: 18 Jul 2021, 07:24 PM IST

खरगोन.
कोरोना महामारी अभिशाप लेकर आई और कई घरोंदे उजाड़ गई। कई बच्चे अनाथ हो गए। किसी के सिर से पिता का साया उठ गया तो किसी ने मां को खोया। मार्च, अप्रैल और मई में ही जिले के ८३ बच्चे अनाथ हुए। जबकि सालभर में २९७ बच्चे कोरोना व अन्य बीमारियों के चलते माता-पिता से बिछड़े। फिलहाल ऐसे बच्चों की मदद के लिए मुख्यमंत्री कोविड बाल कल्याण योजना शुरू की है। इस योजना के तहत जिले के १५ बच्चों को चिन्हित किया है। इनमें शामिल दो बच्चों को रविवार प्रदेश कृषि व जिले के प्रभारी मंत्री कमल पटेल मिले।
मंत्री पटेल कोरोना महामारी के दौरान अनाथ हुए आदित्य पटेल और अनमोल पटेल के घर पहुंचे। खरगोन जिला प्रशासन ने खरगोन जिले में ऐसे 15 बालक बालिकाओं को मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गई मुख्यमंन्त्री कोविड बाल कल्याण योजना के लिए चिन्हित किया है जिसमें आदित्य और अनमोल पटेल भी है। प्रभारी मंत्री ने दोनों बालकों से बात की। उनके हाल जाने। 5000 रुपए की राशि भेंट की। बच्चों की शिक्षा का जिम्मा जिला प्रशासन को सौंपा। इसके निर्देश कलेक्टर को दिए।

Gopal Joshi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned