नपा की टीम को दिया अल्टीमेटम, निर्माण कार्यों की मांगी डेडलाइन

प्रशासक की पहली ब्रिफिंग...
-नपा के विकास कार्यों पर प्रशासक कलेक्टर गोपालचंद डाड ने ली पहली बैठक, बोले- तय कर लो कब काम करके दोगे, ढिलाई की तो फिर कार्रवाई के लिए तैयार रहना
-स्वच्छता, सड़क निर्माण, नाली निर्माण, जलावर्धन, सीवरेज सहित अन्य निर्माण कार्यों का मांगा ब्यौरा, 15 दिन बाद फिर जांचेंगे प्रोग्रेस

खरगोन.
परिषद का कार्यकाल खत्म होने के बाद प्रशासक की कुर्सी संभालने वाले कलेक्टर गोपालचंद डाड ने नगरपालिका के तमाम अमलों की पहली बिफ्रिंग बैठक बुधवार को ली। यह बैठक नगरपालिका सभाहॉल में की गई। कलेक्टर ने पहले तो सभी अमलों की कार्यप्रणाली समझी। इसके बाद कहा- जो काम जिसकी जवाबदारी में हैं वह समय पर हो जाए यह अभी तय कर लें। काम कैसे पूरा होगा, क्या अड़चनें आ रही हैं अभी देख लें। बाद में लेटलतिफी हुई तो फिर कार्रवाई होगी।
बैठक में कलेक्टर ने मूलरूप से अब तक किए गए कार्यों की पड़ताल की। करीब दो घंटे चली बैठक में उन सभी बिंदुओं पर चर्चा की गई जो शहरहित के मुद्दों से जुड़े हुए हैं। इसमें 24 घंटे पेयजल व्यवस्था, सीरवेज लाइन, सड़क निर्माण, नाली निर्माण आदि कार्यों की समीक्षा हुई। कलेक्टर ने नपा अमले को साफ तौर पर कहा किसी भी काम को स्वीकृति दे तो उसके पहले उसके दस्तावेज जरूर रखें। काम शुरू होने से पहले फोटो लें, उसकी उपयोगिता बताएं। बैठक में नपा सीएमओ निशिकांत शुक्ला, सहायक यंत्री रघुनाथ वर्मा, कमलसिंह पटेल, उपयंत्री सरजू सांगले, मनीष महाजन, पूजा पटेल, शिवानी पाटीदार, शैलेंद्र लौधी व अन्य अमला मौजूद था।

नाराजगी : 24 घंटे पेयजल वितरण में देरी
बैठक में 24 घंटे पेयजल वितरण पर भी चर्चा की गई। इस काम में देरी को लेकर कलेक्टर ने नाराजगी जताई। निर्देश दिए कि 20 फरवरी को इसके लिए अलग से बैठक की जाएगी। बैठक की जानकारी भोपाल नगरीय प्रशासन विभाग को भेजेंगे।

अधूरा काम : 3 किमी अमृत योजना की लाइन अब भी बाकी
बैठक में यह बात भी सामने आई कि अमृत योजना के तहत शहर में 14 किमी की पाइप लाइन डलनी थी। अब तक 11 किमी तक काम पूरा हो गया है। इसके लिए कंपनी ने शासन से पहले अतिरिक्त समय मांगा था, जिसे बढ़ाया। इसके बावजूद भी समय पर काम पूरा नहीं हुआ। कलेक्टर ने इस पूरे निर्माण की बारीकी से समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं।

हिदायत : कलेक्टर बोले- हर काम की तय करो डेडलाइन
बैठक में कलेक्टर ने नपा द्वारा किए जाने वाले कामों की समीक्षा करते हुए कहा जो भी निर्माण शुरू किए जा रहे हैं उसकी डेडलाइन तय करो। उसके हिसाब से काम करोगे तो समय पर होगा। यदि ऐसा नहीं किया तो संबंधितों पर कार्रवाई होगी।

सौंदर्यीकरण : नदी किनारे लगाएंगे 50 हजार पौधे
बैठक में सौंदर्यीकरण पर भी बात हुई। कलेक्टर ने कहा- एनटीपीसी शहर में 50 हजार पौधे लगाने के लिए तैयार है। इस पौधरोपण के लिए जमीन बताएं। कलेक्टर ने सुझाव दिया कि नदी किनारे का भी प्रोजेक्ट तैयार किया जा सकता है।

नवाचार : अब वैक्यूम प्रेसर से होगी सफाई
शहर में सीवरेज के किए जा रहे काम में छोटे साइज के पाइप लगाने की बात भी बैठक में हुई। अफसरों ने बताया सीवरेज की यह योजना हायड्रोलिक डिजाइन के आधार पर है। इसमें वैक्यूम प्रेसर से सफाई की जाएगी। ऐसा होता है तो बड़े पाइप की जरूरत नहीं होगी। छोटे पाइप से पानी का प्रेसर बढ़ेगा। पाइप जाम होने की गुंजाइश नहीं बचेगी। ऐसी योजना पूर्व में सीहोर में बन चुकी है। अफसरों के इस सुझाव को अमली-जामा पहनाने के लिए कलेक्टर ने अलग बैठक करने की बात कही है।

अभी यह काम इस स्थिति में
स्वच्छता : स्वच्छता सवेक्षण 2020 के सर्वे में अभी दूसरी व तीसरी माही के परिणाम आए हैं, जो संतोषजनक है। अब स्टार रेंकिंग के लिए सर्वे दल आएगा। इसकी तैयारियों का जिम्मा स्वास्थ्य अमले को सौंपा है।
सड़क, नाली निर्माण : शहर में कई जगह जलावर्धन व सीवरेज की खुदाई के बाद सड़कों व नालियों का निर्माण नहीं हुआ है। ऐसे स्थानों को चिन्हित कर इन कार्यों को पूरा करने का समय मांगा है।
जलावर्धन, सीवरेज : 2017 से जिले में जलावर्धन व सीवरेज का काम चल रहा है। कंपनियों का दावा था कि मार्च के अंतिम सप्ताह तक काम पूरा हो जाएगा, लेकिन अभी काम अधूरा है। प्रशासक ने इसकी आखिरी डेडलाइन फिर मांगी है।

आगे क्या : 15 दिन बाद सभी विभागों की करेंगे समीक्षा
इस ब्रिफिंग बैठक में कलेक्टर ने नपा के सभी विभागों को 15 दिन का समय इसके लिए दिया है ताकि वे यह तय कर लें कि सारे काम कब तक पूरे होंगे। 15 दिन बाद फिर समीक्षा बैठक होगी। इसमें विभाग काम पूर्ण करने की जो तारीख देगा, उसे समयसीमा में करना होगा। दायरे से बाहर समय गया तो फिर कार्रवाई होगी।

Gopal Joshi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned