बिना नमक वाली मूंगदाल, सब्जी, रोटी, सलाद, थूली खाकर लिया सात दिन ट्रीटमेंट और जीत ली कोरोना की लड़ाई

कोरोना पर तीसरे यौद्धा की जीत...
-कोरोना को मात लेकर जिले का तीसरा मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौटा, सांझा किए अपने इलाज का अनुभव, की अपील, बनाए रखे सामाजिक दूरी
-शुक्रवार को 67 लोगों की रिपोर्ट आई निगेटिव, नए 84 सैंपल जांच के लिए भेजे

By: Gopal Joshi

Published: 18 Apr 2020, 06:03 AM IST

खरगोन.
कोरोना महामारी इस समय देश ही नहीं विश्व के लिए चुनौती बना है। हर शख्स के मन में इस अदृश्य वायरस को लेकर खौफ है। जीवन की रफ्तार थम गई है। इसी बीच शुक्रवार का इस लाइलाज बीमारी को मात देकर जिले का तीसरा मरीज बडग़ांव निवासी मनोज कुशवाह स्वस्थ्य घर घर लौटा है। मनोज ने बीते सात दिनों में लिए गए ट्रीटमेंट को साझा किया तो पता चला कि जरा सी सावधानी बरत ली जाए और खान-पान संयमित हो तो इस बीमारी को मुंह तोड़ जवाब दिया जा सकता है। इन सात दिनों में मनोज ने बिना नमक वाली मंूग दाल के साथ सब्जी, रोटी, सलाद और थूली का सेवन किया। कुछ जरूरी ट्रीटमेंट और दवाइयां ली और स्वस्थ्य होकर घर लौट आया। मनोज ने जनता से भी अपील की है कि सामाजिक दूरी बनाकर रखें। लॉक डाउन का पालन करें तो महामारी को छकाया जा सकता है।
जिस महामारी में विश्व के कई देशों की चिकित्सा व्यवस्था दम तोड़ चुकी है वहीं हमारे देश में चिकित्सा व्यवस्था की वाह.वाहीं कई देश करने लगे हंै। और क्यों न हो, यहां कोरोना महामारी से लडऩे में चिकित्सा सुविधा के अलावा मरीजों का हौसला और चिकित्सकों की लगन कई देशों से आगे है। शुक्रवार को खरगोन के नजदीक गांव बडग़ांव के मनोज रामरतन कुशवाह कोरोना से जंग जीतकर वापस अपने घर लौटे। मनोज ने बताया मनोरमा टीबी हॉस्पिटल में उनकी देख.रेख कमाल की रही। इस महामारी का कोई भी विशेष इलाज नहीं है। मनोज ने इलाज के दौरान कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में बताया। उन्हें अस्पताल में बिना नमक का भोजन, जिसमें तीनों समय मूंग की छिलके वाली दाल दी गई। इसके अलावा रोटी, एक सब्जी, हरा सलाद और चावल के अलावा एक समय थूली भी दी जाती रहीं। वहीं दिन में 2-2 बार दवाइयां और रात में इंजेक्शन भी दिया गया।

ऐसी रही मनोज की टे्रवल हिस्ट्री
27 मार्च को मनोज इंदौर से कोरोना महामारी से बचने के लिए घर के लिए लौटा। उस दिन बारिश में भीग से सर्दी-खांसी हुई। इसी दिन शाम को खरगोन के जिला अस्पताल में जांच कराई और घर चला गया। 29 मार्च को अचानक बुखार आने लगा। सर्दी.खांसी के चलते सांसे फुलने लगी, जी घबराने लगा। डॉक्टरों को सूचना दी गई। डॉक्टरों ने जांच करने के बाद 30 मार्च को खरगोन अस्पताल में भर्ती किया। यहां कुछ दिन इलाज के बाद इंदौर रेफर किया गया।

राहत : शुरुआती तीन स्वस्थ्य होकर लौटे
कोरोना संक्रमण की चपेट में आए शुरुआती तीन मरीज अब पूरी तरह स्वस्थ्य होकर घर लौट आए हैं। इसमें साहकार नगर निवासी नूर मोहम्मद, आसनगांव निवासी ललित पाटीदार और तीसरा बडग़ांव निवासी मनोज कुशवाह शामिल है।

शुक्रवार को 67 की रिपोर्ट आई निगेटिव 317 सैंपल का इंतजार
खरगोन. सीएमएचओ कार्यालय से शुक्रवार को हेल्थ बुलेटिन जारी हुआ। इसमें अनुसार पिछले 24 घंटे में 67 निगेटिव रिपोर्ट मिली है। इन्हें मिला कर निगेटिव रिपोर्ट का आंकड़ा 263 तक पहुंचा है। जबकि 317 सैंपल की रिपोर्ट आना शेष है। प्राप्त जानकारी अनुसार अब तक 17652 लोगों की स्क्रीनिंग कर होम क्वारेंटाइन किया है। इसमें 100 लोगों को पिछले 24 घंटे में होम क्वारेंटोनइन किया गया है। जिला अस्पताल के आयसोलेशन में 12 लोग भर्ती है। शुक्रवार को विभाग ने 84 नए सैंपल जांच के लिए भेजे हैं। अब तक जिले से कुल 617 सैंपल लिए जा चुके है। संक्रमित मरीजों की संख्या जिले में 31 है जबकि तीन लोगों की मौत पूर्व में हो चुकी है।

Gopal Joshi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned