scriptTransport became expensive | कफ्र्यू का असर ; ट्रांसपोर्ट हुआ महंगा, इंदौर का भाड़ा दो हजार रुपए बढ़ा, किसान परेशान | Patrika News

कफ्र्यू का असर ; ट्रांसपोर्ट हुआ महंगा, इंदौर का भाड़ा दो हजार रुपए बढ़ा, किसान परेशान

-आसपास के लगे गांवों से रोजाना 4 से 6 टन सब्जी का हो रहा सप्लाई, प्याज के ट्रांसपोर्ट ने किसानों को रुलाया

खरगोन

Published: April 19, 2022 06:29:44 pm

खरगोन.
रामनवमीं पर निकली शोभायात्रा पर हुए पथराव के बाद खरगोन शहर बीते आठ दिनों से दंगे के बाद कफ्र्यू के साये में है। आर्थिक गतिविधियां ठप्प हो गई है। इससे किसान वर्ग भी अछूता नहीं। खासकर सब्जी की खेती करने वाले किसानों को खासी परेशानियां हो रही हैं। सब्जी के ट्रांसपोर्ट को लेकर दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसके बाद भी किसान शहर में सब्जी की आपूर्ति में जुटे हैं।
नागझिरी के किसान अजय चौधरी ने बताया किसानों ने यहां अबकि बार प्याज बड़ी संख्या में लगाया है। लेकिन आठ दिनों से खरगोन में कफ्र्यू लगा है। ऐसे में ट्रांसपोर्टिंग बड़ी समस्या है। सामान्य दिनों में खरगोन से नागझिरी का वाहन भाड़ा ७००० हजार रुपए लगता है लेकिन अभी ९००० रुपए खर्च करना पड़ रहे हैं। इसकी बड़ी वजह वाहनों का व्हाया खरगोन से इंदौर जाने की बजाय सनावद-बड़वाह रुट से इंदौर तक माल पहुंचाना है।
Transport became expensive
खरगोन. इस तरह पैकिंग के बाद खरगोन तक आ रही सब्जियां।
रोजाना पहुंचा रहे सब्जी
उपद्रव के बाद कफ्र्यू का दंश झेल रहे शहरवासियों तक ताजी सब्जियां पहुंचाने का काम भी किसान कर रहे हैं। अभी शहर में नागझिरी के अलावा गाढ़ाघाट, मोघन, बलगांव, मेनगांव-पिपराटा आदि जगह से सब्जियां आ रही है। रोजाना 4 से 6 टन सब्जी की खपत हुई है।
और इधर, लोडिंग वाहनों का कामकाज ठप्प
शहर बीते दस दिनों से कफ्र्यू के दायरे में है। ऐसे में ग्रामीणों इलाकों से आने वाले लोडिंग वाहन चालकों का कामकाज भी ठप्प है। दस दिनों से वाहन खड़े हैं। लोडिंग रिक्शा चालक शिवराम कुशवाह, कमलेश यादव, शक्ति कुशवाह, दीपक यादव आदि ने बताया कि रोजाना १२०० से १५०० रुपए का भाड लेकर शहर जाते थे, लेकिन दस दिनों से घर पर है। इससे आर्थिक नुकसान हो रहा है।
किसानों का नहीं निकल रहा हाथ खर्च, गेहंू, चने नहीं बिके
ग्राम बरसलाय के किसान राधू यादव, मनोहर यादव, जगदीश यादव आदि ने बताया अभी गेहंू और चने की उपज निकली है। कफ्र्यू के कारण मंडी बंद है। बाजार भी बंद है। ऐसे में उपज बेचने में परेशानी हो रही है। नकद फसल से ही घर खर्च चलते हैं। अभी परेशानी हो रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

पहली बार हिंदी लेखिका को मिला अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार, एक मॉं की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासपाकिस्तान में 30 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, Pak सरकार को घेरते हुए इमरान खान ने की मोदी की तारीफअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलअब चावल के निर्यात पर भी रोक लगा सकती है केंद्र सरकार, PMO की एक्सपर्ट कमेटी का सुझावहार्दिक पटेल पर बड़ा आरोप, विधानसभा चुनाव का एक टिकट देने के लिए ली 23 लाख रुपए की रिश्वतचांदी के गहने-सिक्के की भी हो सकती है हॉलमार्किंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.